विश्व
पुष्टि - 99,325,288
मृत्यु - 2,130,366
ठीक- 71,371,003
भारत
पुष्टि - 10,655,435
मृत्यु - 153,376
ठीक- 10,316,786
रूस
पुष्टि - 3,698,273
मृत्यु - 68,971
ठीक- 3,109,315
फ्रांस
पुष्टि - 3,035,181
मृत्यु - 72,877
ठीक- 216,725
ब्राज़िल
पुष्टि - 8,816,254
मृत्यु - 216,475
ठीक- 7,628,438
अमेरिका
पुष्टि - 25,566,789
मृत्यु - 427,635
ठीक- 15,330,949

भगोड़ा हीरा कारोबारी नीरव मोदी अभी ब्रिटेन की ही जेल में रहेगा, अगली पेशी 30 जनवरी को होगी

लंदन। ब्रिटेन की एक अदालत ने भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी की हिरासत अवधि को जारी रखते हुए उसे 30 जनवरी को पुन: पेश होने को कहा। नीरव मोदी पंजाब नेशनल बैंक (PNB) के साथ करीब दो अरब डॉलर की ऋण धोखाधड़ी करने तथा मनी लॉड्रिंग के मामलों में भारत में वांछित है।

ब्रिटेन में उसके प्रत्यर्पण को लेकर सुनवाई चल रही है। नीरव मोदी को वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट की अदालत में वैंड्सवर्थ कारावास से प्रत्येक 28 दिन पर होने वाली नियमित पेशी के तहत अदालत के समक्ष पेश किया गया। उसके प्रत्यर्पण संबंधी सुनवाई 11 मई से शुरू होने वाली है और इसके करीब पांच दिन चलने का अनुमान है।

डिप्टी चीफ मजिस्ट्रेट टैन इकरम ने नीरव मोदी से पूछा कि क्या उसे किसी अन्य मुद्दे के बारे में कुछ कहना है। नीरव मोदी ने इसके उत्तर में ‘नहीं’ कहा। उल्लेखनीय है कि नीरव मोदी ने घर में नजरबंदी की गारंटी की पेशकश करते हुए नवंबर में जमानत की नये सिरे से याचिका दायर की थी। हालांकि चीफ मजिस्ट्रेट एम्मा आर्बथनॉट ने गवाहों को प्रभावित करने तथा मई, 2020 में प्रस्तावित सुनवाई में पेशी से भागने की आशंका के मद्देनजर उसकी जमानत याचिका खारिज कर दी थी। नीरव मोदी को 19 मार्च को गिरफ्तार किया गया था। वह तब से वैंड्सवर्थ कारावास में है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.