विश्व
पुष्टि - 33,306,022
मृत्यु - 1,002,389
ठीक- 24,637,458
भारत
पुष्टि - 6,074,702
मृत्यु - 95,574
ठीक- 5,016,520
रूस
पुष्टि - 1,151,438
मृत्यु - 20,324
ठीक- 943,218
पेरू
पुष्टि - 805,302
मृत्यु - 32,262
ठीक- 664,490
ब्राज़िल
पुष्टि - 4,732,309
मृत्यु - 141,776
ठीक- 4,060,088
अमेरिका
पुष्टि - 7,321,343
मृत्यु - 209,453
ठीक- 4,560,456

चीन में हर पल कहर ढा रहा “कोरोना वायरस”, 2 दिन में 143 की मौत, अब तक मरने वालों की संख्या 1600 के पार

वुहान (चीन) । चीन में खतरनाक कोरोना वायरस का कहर जारी है। कोरोना वायरस के कहर से मरने वालों की संख्या में हर पल इजाफा हो रहा है और अब इससे मरने वालों की संख्या बढ़कर 1631 हो गई है। बीते दो दिनों में इस बीमारी से 143 लोगों की मौत हुई है। शनिवार को यह जानकारी चीन के स्वास्थ्य अधिकारी ने दी।

चीन में कोराना वायरस का सबसे ज्यादा आतंक हुबेई प्रांत में देखने को मिल रहा है। नोवल कोरोना वायरस का केंद्र बने हुबेई प्रांत में इस बीमारी ने 2420 नए लोगों को अपने चपेट में ले लिया है। चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन ने कहा कि शुक्रवार को हुबेई प्रांत में कोरोना वायरस से 139 लोगों की मौत हो गई।

समाचार एजेंसी के अनुसार, चीन में 4 मौत के बाद आये आंकड़ा बढ़ गया है। चीन की राजधानी बीजिंग में एक, हेनान में दो और चोंगकिंग में एक की मौत से यह आंकड़ा बढ़ कर 143 हो गया। इस तरह से कुल 2641 लोगों की मौत हो गई।

इसके अलावा, चीन में कोरोना वायरस से 1700 से अधिक चिकित्सा कर्मी संक्रमित हो गए हैं। करीब 1400 मरीजों की इस बीमारी से मौत हो गई। यह रोग एशिया के कई हिस्सों, सुदूर अमेरिका यूरोप तक फैल गया है। राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग में उप मंत्री जेंग यीजिंग ने संवाददाता सम्मेलन में बताया कि छह चिकित्साकर्मियों की इस बीमारी से मौत हो गई है।

कोरोना वायरस (COV) का संबंध वायरस के ऐसे परिवार से है, जिसके संक्रमण से जुकाम से लेकर सांस लेने में तकलीफ जैसी समस्या हो सकती है। डब्लूएचओ के अनुसार, बुखार, खांसी, सांस लेने में तकलीफ इसके लक्षण हैं। अब तक इस वायरस को फैलने से रोकने वाला कोई टीका नहीं बना है।

कोरोना वायरस के लक्षण स्वाइन फ्लू जैसे हैं। इसके संक्रमण के फलस्वरूप नाक बहना, बुखार, जुकाम, सांस लेने में तकलीफ, सिर में तेज दर्द, निमोनिया, ब्रॉन्काइटिस और गले में खराश जैसी समस्याएं उत्पन्न होती हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.