विश्व
पुष्टि - 133,698,363
मृत्यु - 2,901,130
ठीक- 107,828,758
भारत
पुष्टि - 12,928,574
मृत्यु - 166,892
ठीक- 11,851,393
रूस
पुष्टि - 4,606,162
मृत्यु - 101,480
ठीक- 4,229,480
फ्रांस
पुष्टि - 4,841,308
मृत्यु - 97,722
ठीक- 301,299
ब्राज़िल
पुष्टि - 13,197,031
मृत्यु - 341,097
ठीक- 11,664,158
अमेरिका
पुष्टि - 31,637,243
मृत्यु - 572,849
ठीक- 24,206,539

‘वेटर्स क्यों पहनते हैं हमारी यूनिफॉर्म’ पाकिस्तान में वकीलों ने वेटर्स की ड्रेस पर जताया एतराज, चेतावनी जारी

इस्लामाबाद। पाकिस्तान एक अजीब मुल्क है और पाकिस्तान के अंदर जो वाकये होते हैं, उसपर कभी हंसी आती है तो कभी तरस। अब पाकिस्तान के वकीलों को होटलों में काम करने वाले वेटर्स के ड्रेस ने गुस्सा दिला दिया है। गुस्सा भी ऐसा कि वेटरों के ड्रेस को बदलने का फरमान जारी करने की स्थिति आ गई है। पाकिस्तान के तीन बार काउंसिल ने बकायदा अपने बयानों में कहा है कि वेटर्स को काला सूट, सफेद कमीज और काली टाई पहनने की इजाजत नहीं दी जाए क्योंकि ऐसा ड्रेस वकीलों के लिए है।

पाकिस्तान में वेटर्स के ड्रेस पर अच्छा खासा बवाल मच गया है। सोशल मीडिया पर वकीलों का जमकर मजाक बनाया जा रहा है। रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान के तीन बार काउंसिल को वेटर्स की ड्रेस पर एतराज है। पाकिस्तान के पंजाब बार काउंसिल, इस्लामाबाद बार काउंसिल और बलूचिस्तान बार काउंसिल ने अपने बयानों में कहा है कि वेटर्स को ऐसे ड्रेस पहनने की इजाजत नहीं दी जाए।

पाकिस्तान समेत दुनिया के ज्यादातर हिस्सों में वेटर्स काला सूट, सफेद कमीज और काली टाई ही लगाते हैं। लेकिन, वकीलों का कहना है कि ये यूनिफॉर्म उनका है और ऐसे यूनिफॉर्म वेटर्स को नहीं पहनना चाहिए। पंजाब बार काउंसिल की तकफ से सेक्रेटरी ने बकायदा चीफ सेक्रेटरी ऑफ पंबाज और लाहौर को चिट्ठी तक भेजी है। इस चिट्टी में कहा गया है कि ‘वकीलों के अलावा किसी और शख्स को उनकी यूनिफॉर्म पहनने की इजाजत नहीं होनी चाहिए और अगर कोई शख्स चाहे शादी समारोह हो या फिर मैरिज हॉल्स या फिर होटल्स, इंवेट्स या फिर कोई और फंक्शन ही क्यों ना हो, अगर कोई शख्स ऐसे यूनिफॉर्म में दिखता है तो फिर उसके खिलाफ कानून के प्रावधानों के तहत आगे बढ़ा जाएगा’

पाकिस्तानी वकीलों की दलील को अगर माने तो फिर पूरे पाकिस्तान में वकीलों के अलावा कोई भी शख्स काला सूट, सफेद शर्ट और काली टाई नहीं पहन सकता है। चाहे समारोह कोई भी क्यों ना हो, वकीलों की माने तो इस यूनिफॉर्म पर सिर्फ उनका हक है और बाकी कोई भी शख्स ऐसा यूनिफॉर्म नहीं पहन सकता है और अगर पहनता है तो कानून के मुताबिक कार्रवाई करने की चेतावनी दी गई है। इस चिट्ठी में चीफ सेक्रेटरी ऑफ पंजाब को बकायदा कहा गया है कि वो सभी जिलों के लिए सर्कुलर जारी करें और कहें कि किसी भी होटल का वेटर किसी भी इवेंट या फंक्शन में ऐसी यूनिफॉर्म का इस्तेमाल ना करें और अगर किसी ने पहना है, तो उसे फौरन चेंज करे।

पाकिस्तानी वकीलों ने साफ तौर पर कानूनी कार्रवाई की चेतावनी जारी कर दी है और चीफ सेक्रेटरी से बकायदा सभी जिलों के लिए सर्कुलर जारी करने के लिए कहा है, ऐसे में सवाल ये उठ रहे हैं कि क्या अब पाकिस्तान में वेटर्स के लिए ड्रेस कोड बदल जाएगा? क्या पाकिस्तान की सरकार वकीलों की इस अजीब दलील को मानेगी? वहीं, सोशल मीडिया पर वकीलों के इस फरमान पर सवाल उठ रहे हैं। कई यूजर्स सवाल पूछ रहे हैं कि भला वकीलों को फरमान जारी करने का हक किसने दिया है? तो वहीं कुछ यूजर्स ने कहा है कि अब वकील ब्लैक एंड व्हाइट काम नहीं करते हैं, लिहाजा वकीलों का ही ड्रेस बदल दिया जाना चाहिए।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.