विश्व
पुष्टि - 60,720,993
मृत्यु - 1,426,841
ठीक- 42,032,104
भारत
पुष्टि - 9,266,705
मृत्यु - 135,261
ठीक- 8,679,138
रूस
पुष्टि - 2,162,503
मृत्यु - 37,538
ठीक- 1,660,419
फ्रांस
पुष्टि - 2,170,097
मृत्यु - 50,618
ठीक- 156,552
ब्राज़िल
पुष्टि - 6,166,898
मृत्यु - 170,799
ठीक- 5,512,847
अमेरिका
पुष्टि - 13,137,962
मृत्यु - 268,219
ठीक- 7,805,280

आरोग्य सेतु App पर किरकिरी और नोटिस के बाद सरकार ने, कहा- देंगे सभी जानकारी

नई दिल्ली। आरोग्य सेतु App के बारे में जानकारी ना होने की बात कहने और इसके बाद केन्द्रीय सूचना आयोग (CEO) के नोटिस के बाद हुई भारी किरकिरी को देखते हुए सफाई देते हुए केन्द्र ने कहा कि वह इस App से जुड़ी सभी जानकारियां देने को लेकर प्रतिबद्ध है।

केन्द्र सरकार ने गुरुवार को कहा कि सूचना के अधिकार के तहत कंट्रैक्ट ट्रेसिंग एप्लिकेशन के बारे में मांगी गई सभी जानकारियां देने को लेकर वह प्रतिबद्ध है और CIC के निर्देशों का पालन करती है। ऐप को डेवलप किए जाने के बारे में सरकार की तरफ से जवाब ना दिए जाने पर नोटिस जारी कर सीआईसी ने इस बारे में सफाई मांगी गई थी। अधिकारियों ने बताया कि केन्द्रीय इलैक्ट्रोनिक्स एंड इन्फॉर्मेशन टेक्नॉलोजी (MeitY) ने आरोग्य सेतु के बारे में दी गई जानकारियों में का मुद्दा कड़ाई से उठाया है। आरोग्य सेतु ऐप के पास देश के करोड़ों लोगों के डेटा है।

उन्होंने कहा कि मंत्रालय की तरफ से इसके लिए जिम्मेदार अफसरों के खिलाफ कार्रवाई के लिए निर्देश जारी किए गए हैं। इसके साथ ही, नेशनल इन्फॉर्मेटिक्स सेंटर और नेशनल ई-गवर्नेंस डिविजन का आदेश दिया है कि उनके यहां पर ITI के जवाब देने वाले अफसरों के खिलाफ सही कार्रवाई करें। उन्होंने बताया कि मंत्रालय ITI  एक्ट के तहत मांगी गई सभी सूचना देने को लेकर प्रतिबद्ध है और सीआईसी के निर्देशों का पालन करता है। सूचना आयोग ने सरकार के ऐप पर जवाब को ‘अत्यंत बेहूदा’ करार दिया था।

RTI आवेदन सौरभ दास नाम के व्यक्ति ने लगाया कर निजता की चिंताओं के चलते ऐप को बनाए जाने के बारे में जानकारी मांगी थी। दास की तरफ से मांगे गए सवालों पर जवाब देने से एनआईसी, नेशनल ई-गवर्नेंस डिविजन और मिनिस्ट्री ऑफ इलैक्ट्रोनिक्स एंड टेक्नॉलोजी ने इनकार कर दिया था। इसके बाद सौरभ ने CIC के सामने अपील दायर किया था।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.