विश्व
पुष्टि - 133,698,363
मृत्यु - 2,901,130
ठीक- 107,828,758
भारत
पुष्टि - 12,928,574
मृत्यु - 166,892
ठीक- 11,851,393
रूस
पुष्टि - 4,606,162
मृत्यु - 101,480
ठीक- 4,229,480
फ्रांस
पुष्टि - 4,841,308
मृत्यु - 97,722
ठीक- 301,299
ब्राज़िल
पुष्टि - 13,197,031
मृत्यु - 341,097
ठीक- 11,664,158
अमेरिका
पुष्टि - 31,637,243
मृत्यु - 572,849
ठीक- 24,206,539

महाराष्ट्र में ठाकरे सरकार की पुलिस गुंडागर्दी: गर्ल्स हॉस्टल की लड़कियों के उतरवाए कपड़े, कराया नंगा नाच

मुंबई। महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे सरकार की पुलिस की जबरदस्ती का एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। ठाकरे सरकार की पुलिस ने गुंडागर्दी करते हुए जलगांव स्थित सरकारी आशादीप अस्पताल के हॉस्टल में रहने वाली लड़कियों को नंगा होकर नाचने के लिए मजबूर किया। एक सामाजिक संगठन ने जिलाधीकारी से इस मामले में शिकायत की है और साथ ही इस घटना का वीडियो भी सबूत के रूप में पेश किया है।

TV9 की खबर के अनुसार कुछ पुलिसकर्मियों और हॉस्टल से बाहर से आए कुछ लोगों ने आशादीप अस्पताल के महिला हॉस्टल में रहने वाली लड़कियों से कपड़े उतार कर डांस करवाया। गणेश कॉलनी में स्थित इस हॉस्टल में महिला और बालकल्याण विभाग की ओर से बेसहारा, प्रताड़ित और पीड़ित महिलाओं और लड़कियों के रहने और खाने की व्यवस्था की जाती है।

बताया जा रहा है कि 1 मार्च को जांच के नाम पर कुछ पुलिस कर्मचारी और अन्य लोग हॉस्टल में दाखिल हो गए। इन लोगों ने लड़कियों से कपड़े उतरवा कर उनसे जबरदस्ती डांस करवाया। जिन लड़कियों ने ऐसा करने से मना किया उन्हें मारने-पीटने की धमकी दी गई। सामाजिक कार्यकर्ताओं को जब इस बारे में जानकारी मिली तो वे इस बारे में विस्तार से जानने के लिए हॉस्टल पहुंचे, मगर उन्हें अंदर नहीं जाने दिया गया।

इसके बाद लड़कियों ने खिलड़ियों से चिल्ला-चिल्लाकर पूरी बातें बताईं। स्थानीय जननायक फाउंडेशन के कार्यकर्ताओं से हुई इन लड़कियों की बातचीत के बात पूरा मामला सामने आ पाया है। जिलाधिकारी अभिजीत राउत ने इस मामले की विस्तृत जांच कराने का आश्वासन दिया है।

ये मामला 3 मार्च को महाराष्ट्र विधानसभा में भी उठा। पूर्व मंत्री सुधीर मुंगतीवार ने कहा कि राज्य में हमारी ही मां-बहनों को नंगा किया जा रहा है और और राज्य के गृह मंत्री हाथ पर हाथ धरे बैठे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में अब राष्ट्रपति शासन ही एकमात्र विकल्प बचा है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.