विश्व
पुष्टि - 60,720,993
मृत्यु - 1,426,841
ठीक- 42,032,104
भारत
पुष्टि - 9,266,705
मृत्यु - 135,261
ठीक- 8,679,138
रूस
पुष्टि - 2,162,503
मृत्यु - 37,538
ठीक- 1,660,419
फ्रांस
पुष्टि - 2,170,097
मृत्यु - 50,618
ठीक- 156,552
ब्राज़िल
पुष्टि - 6,166,898
मृत्यु - 170,799
ठीक- 5,512,847
अमेरिका
पुष्टि - 13,137,962
मृत्यु - 268,219
ठीक- 7,805,280

कोविड-19 : दक्षिण ऑस्‍ट्रेलिया में लगा दुनिया का सबसे सख्‍त लॉकडाउन, घर के सिर्फ एक ही व्‍यक्ति को बाहर जाने की है अनुमति

एडीलेड। दक्षिण ऑस्‍ट्रेलिया में कोरोना वायरस महामारी के चलते दुनिया का सबसे सख्‍त लॉकडाउन लगाया गया है। गुरुवार से इस लॉकडाउन की शुरुआत हुई है और नियमों के तहत घर के सिर्फ एक ही व्‍यक्ति को बाहर जाने की अनुमति होगी। प्रधानमंत्री स्‍टीवन मार्शल की तरफ से देश में संक्रमण के बढ़ते मामलों के चलते यह फैसला किया गया है। पीएम मॉर्शल की तरफ से जो नए नियमों का ऐलान किया गया है उनके तहत एक्‍सरसाइज और कुत्‍ता टहलाने के लिए भी बस एक ही व्‍यक्ति घर से बाहर जा सकेगा।

कोविड-19 संक्रमण के क्‍लस्‍टर को रोकने के लिए इस लॉकडाउन को लागू किया गया है। अगले छह दिनों तक यह नियम मान्‍य रहेंगे और घर का बस एक ही सदस्‍य कहीं आ-जा सकेगा, वह भी बस बहुत जरूरी होगा तभी। स्‍कूल, यूनिवर्सिटीज, कैफे और रेस्‍टोरेंट्स सभी बंद रहेंगे। साथ ही शादियों और अंतिम संस्‍कार पर भी रोक लगा दी गई है। मास्‍क भी अनिवार्य कर दी गई है। प्रधानमंत्री स्‍टीवन मार्शल ने इस लॉकडाउन पर कहा, ‘हम कड़े कदम उठाना चाहते हैं लेकिन जल्‍दी उठाना चाहते हैं ताकि जितनी जल्‍दी हो सके, उतनी जल्‍दी इससे बाहर निकल सकें।’ राजधानी एडीलेड में अब तक 23 लोग कोरोना के संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। ये सभी लोग उस होटल के क्‍लीनर के संपर्क में आए थे जिसे क्‍वारंटाइन फैसिलिटी के तौर पर प्रयोग किया जा रहा है। हेल्‍थ अथॉरिटीज की तरफ से कहा गया है कि इस तरह के कड़े कदम बड़े पैमाने पर उठाना जरूरी हो गया है।

स्‍टीवन मार्शल ने कहा कि वायरस का स्‍ट्रेन बहुत ही खतरनाक तरीके से आगे बढ़ रहा है। जो लोग संक्रमित हैं, उनमें लक्षण ही नहीं नजर आ रहे हैं। उन्‍होंने जानकारी दी कि सतह से वायरस लोगों तक पहुंच रहा है और करीब 24 घंटे के अंदर संक्रमित कर देता है। उनके शब्‍दों में, ‘यह वाकई एक चिंता की बात है क्‍योंकि जो लोग संक्रमित हो रहे हैं उनमें वो लक्षण ही नहीं नजर आ रहे हैं जो आमतौर पर नजर आते हैं।’ साउथ ऑस्‍ट्रेलिया की आबादी 1.7 मिलियन लोगों की है। लेकिन इतने लोग जिस क्षेत्र में फैले हैं वह यूके के साइज से पांच गुना ज्‍यादा है। देश ने इस वर्ष की शुरुआत में लॉकडाउन की मदद से कम्‍यूनिटी ट्रांसमिशन को रोकने में सफलता हासिल की थी। मेलबर्न में तीन माह का लॉकडाउन उस समय लगाया गया था जब पड़ोसी के विक्‍टोरिया राज्‍य में एक के बाद एक कई केसेज सामने आने लगे। विक्‍टोरिया में लॉकडाउन के बाद ही संक्रमण पर लगाम लगाई जा सकी थी। इस राज्‍य में अगस्‍त माह के दौरान रोजाना 700 केसेज आ रहे थे लेकिन अब नए केसेज की संख्‍या 20 पर आ गई है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.