विश्व
पुष्टि - 115,302,022
मृत्यु - 2,560,638
ठीक- 91,127,337
भारत
पुष्टि - 11,139,516
मृत्यु - 157,385
ठीक- 10,812,044
रूस
पुष्टि - 4,268,215
मृत्यु - 86,896
ठीक- 3,838,040
फ्रांस
पुष्टि - 3,783,528
मृत्यु - 87,220
ठीक- 259,893
ब्राज़िल
पुष्टि - 10,647,845
मृत्यु - 257,562
ठीक- 9,527,173
अमेरिका
पुष्टि - 29,370,705
मृत्यु - 529,214
ठीक- 19,905,322

कोविड- 19 : कभी भी लौट सकता है कोरोना वायरस, इस देश के सबसे बड़े शहर में लगाना पड़ा लॉकडाउन, प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न ने रद्द किए सभी कार्यक्रम

नई दिल्ली। कोरोना वायरस को पूरी तरह से मात देने वाले देशों को भी उससे बचाव के उपायों की ओर लौटना पड़ रहा है। इनमें न्यूजीलैंड का नाम भी शामिल है। यहां के सबसे बड़े शहर ऑकलैंड में तीन दिन के लिए लॉकडाउन लगाने का फैसला लिया गया है। शहर में कोरोना के मामले सामने आने के बाद सरकार को लॉकडाउन लगाने के लिए मजबूर होना पड़ा है। लॉकडाउन के नियम रविवार आधी रात से लागू हो जाएंगे।

बताया जा रहा है कि न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न ने कैबिनेट के साथ मीटिंग के बाद शनिवार को ऑकलैंड में लॉकडाउन लगाने का फैसला लिया। उन्होंने कहा कि संक्रमण के नए मामले की पूरी जानकारी मिलने तक वे पूरी तरह से सतर्क हैं। डॉक्टर इस बात का भी पता लगा रहे हैं कि क्या वायरस का नया केस पहले से ज्यादा संक्रामक है।

उन्होंने कहा कि सावधानी के मद्देनजर दूसरे शहरों में भी कड़े प्रतिबंध लागू कर दिए गए हैं। ताकि ऑकलैंड की तरह वहां लॉकडाउन न लगाना पड़े। रविवार को ऑकलैंड के स्वास्थ्य अधिकारियों ने शहर में सामने आए कोरोना पॉजिटिव मामलों की जानकारी दी।

वहीं, अधिकारियों ने बताया कि एक ही परिवार के तीन सदस्य कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। तीनों के संक्रमण की अभी पहचान नहीं का जा सकी है इसलिए इसे फैलने से रोकने के लिए लॉकडाउन लगाने का फैसला लिया गया है। न्यूजीलैंड के मंत्री क्रिस हिपकिंस ने कहा कि न्यूजीलैंड ने दूसरे देशों की तुलना में कोरोना को हराने में ज्यादा कामयाबी हासिल की है लेकिन हम शुरुआत से ही कह रहे हैं कि नए जोखिम जैसी कोई चीज नहीं होती।

पीएम जेसिंडा अर्डर्न ने अपनी सभी कार्यक्रम रद्द कर दिए हैं और वापस वेलिंग्टन लौट चुकी हैं। वो कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए अहम फैसले ले रही हैं। आप को बता दें कि न्यूजीलैंड कोरोना पर जीत हासिल करने में सबसे ज्यादा सफल रहा है। देश की अंतर्राष्ट्रीय सीमाओं पर यात्रियों की जांच की जा रही है। कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर उन्हें दो हफ्ते के लिए क्वारंटीन किया जाता है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.