विश्व
पुष्टि - 60,720,993
मृत्यु - 1,426,841
ठीक- 42,032,104
भारत
पुष्टि - 9,266,705
मृत्यु - 135,261
ठीक- 8,679,138
रूस
पुष्टि - 2,162,503
मृत्यु - 37,538
ठीक- 1,660,419
फ्रांस
पुष्टि - 2,170,097
मृत्यु - 50,618
ठीक- 156,552
ब्राज़िल
पुष्टि - 6,166,898
मृत्यु - 170,799
ठीक- 5,512,847
अमेरिका
पुष्टि - 13,137,962
मृत्यु - 268,219
ठीक- 7,805,280

राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को केंद्र का निर्देश- कोरोना वायरस जांच में लाएंं तेजी, लगातार जांच से रोकथाम में मिलेगी मदद

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस के मामलों में तेजी के बाद शनिवार को केंद्र सरकार ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को टेस्टिंग बढ़ाने की सलाह दी है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि यूरोप और अमेरिकी देशों में कोरोना मामलों में वृद्धि को देखते हुए भारत इसके संक्रमण को रोकने के लिए हर संभव प्रयास कर रहा है।

मंत्रालय ने कहा है कि उत्तर भारत के कुछ राज्यों में कोविड मामलों में वृद्धि के मद्देनजर केंद्र ने सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को परीक्षण बढ़ाने की सलाह दी है। ज्ञात हो कि भारत में कोरोना के नए केसों में 3.4 फीसदी तक की गिरावट देखने को मिली थी। विशेषज्ञों का कहना है कि अगर पॉजिटिविटी दर 5 फीसदी या इससे कम रहती है तो संक्रमण का प्रसार नियंत्रण में रहता है।

देश की राजधानी दिल्ली में अक्टूबर के दूसरे सप्ताह में कोरोना वायरस की तीसरी लहर आ चुकी है। 11 नवंबर को दिल्ली में रिकॉर्ड 8593 नए केस दर्ज हुए थे और 18 नवंबर को दिल्ली में 131 लोगों की कोरोना वायरस से मौत हुई है। दिल्ली सरकार की माने तो राज्य में प्रति दस लाख की आबादी पर सबसे ज्यादा टेस्ट किए जा रहे हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल और राजस्थान जैसे राज्यों ने सबसे अधिक नए मामले दर्ज किए हैं, लेकिन राष्ट्रीय औसत 94679 की तुलना में प्रति मिलियन कम परीक्षण किए जाते हैं।

गौरतलब है कि कोरोना वायरस की अधिक से अधिक जांच कर वायरस प्रभावितों का जल्दी पता लगाकर इसे नियंत्रित करने की मुहिम में 20 नवंबर को देश में कुल जांच का आंकड़ा 13 करोड़ को पार कर गया। देश में वैश्विक महामारी कोविड-19 का पहला मामला इस वर्ष 30 जनवरी को आया था और इसके बाद सरकार ने लगातार जांच का दायरा बढ़ाकर संक्रमितों का पता लगाने और वायरस की रोकथाम पर जोर दिया।

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) के शनिवार को जारी आंकड़ो में बताया गया कि 20 नवंबर तक कुल जांच का आंकड़ा 13 करोड़ छह लाख 57 हजार 808 पर पहुंच गया है। इसमें 20 नवंबर को दस लाख 66 हजार 22 जांच की गई। कोरोना वायरस के बड़े स्तर पर फैलाव की रोकथाम के लिए देश में दिन प्रतिदिन इसकी अधिक से अधिक जांच की मुहिम में 24 सिंतबर को एक रोज में 14 लाख 92 हजार 409 नमूनों की जांच का रिकार्ड है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.