विश्व
पुष्टि - 12,630,634
मृत्यु - 562,888
ठीक- 7,366,487
भारत
पुष्टि - 822,603
मृत्यु - 22,144
ठीक- 516,206
रूस
पुष्टि - 713,936
मृत्यु - 11,017
ठीक- 489,068
पेरू
पुष्टि - 319,646
मृत्यु - 11,500
ठीक- 210,638
ब्राज़िल
पुष्टि - 1,804,338
मृत्यु - 70,524
ठीक- 1,213,512
अमेरिका
पुष्टि - 3,291,786
मृत्यु - 136,671
ठीक- 1,460,495

विदेशी पर्यटकों पर रोक, सरकार ने कहा- नुकसान का आकलन बाद में, लोगों की सुरक्षा पहली प्राथमिकता

नई दिल्ली। कोरोना वायरस को लेकर चिंता के बीच विदेशी पर्यटकों पर लगायी रोक को लेकर सरकार ने मंगलवार को कहा कि उसकी पहली प्राथमिकता लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करना है तथा पर्यटकों पर रोक के कारण इस उद्योग को हुए नुकसान का आकलन वह बाद में करेगी। राज्यसभा में प्रश्नकाल के दौरान पूरक प्रश्नों के उत्तर में पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री प्रह्लाद सिंह पटेल ने कहा कि सरकार ने विदेशी पर्यटकों पर रोक लगा दी है। उन्होंने कहा कि भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) संरक्षित स्मारकों एवं मंदिरों को भी बंद कर दिया गया है।

उन्होंने कहा, ‘‘सदन इस बात से अवगत है कि हमारी प्राथमिकता लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करना है…मैंने सभी पक्षों से बातचीत की है, हम नुकसानों का आकलन बाद में करेंगे।’’ पटेल ने कहा कि कोरोना वायरस से निबटने के मामले में स्वास्थ्य मंत्रालय को नोडल मंत्रालय बनाया गया है तथा अन्य सभी मंत्रालय इसके साथ समन्वय कर काम कर रहे हैं। उनसे एक अन्य पूरक प्रश्न यह भी पूछा गया था कि विदेशों में बरामद की गयी ऐसी कलाकृतियों और मूर्तियों को क्या उनके मूल मालिकों को लौटा दिया गया है, जो चुरा ली गयी थी।

इस पर पटेल ने कहा कि ऐसी कलाकृतियों अथवा मूर्तियों के विदेश से बरामद होने के बाद विदेश मंत्रालय इस बारे में कार्रवाई करता है। उन्होंने कहा कि फिलहाल विदेशों से बरामद की गयी ऐसी कलाकृतियों एवं मूर्तियों को दिल्ली के संग्रहालय में रखा गया है। यह पूछे जाने पर कि क्या केंद्र सरकार राज्यों में चुरायी गयी वस्तु की जांच कर सकती है, संस्कृति मंत्री ने कहा कि केन्द्र केवल एएसआई स्मारकों के लिए जवाबदेह है, राज्य स्मारकों के लिए नहीं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.