विश्व
पुष्टि - 786,987
मृत्यु - 37,843
ठीक- 165,933
भारत
पुष्टि - 1,251
मृत्यु - 32
ठीक- 102
फ्रांस
पुष्टि - 44,550
मृत्यु - 3,024
ठीक- 7,927
ईरान
पुष्टि - 41,495
मृत्यु - 2,757
ठीक- 13,911
इटली
पुष्टि - 101,739
मृत्यु - 11,591
ठीक- 14,620
अमेरिका
पुष्टि - 164,278
मृत्यु - 3,170
ठीक- 5,507

‘मन की बात’ में बोले PM मोदी, दुनिया को भारत से जो उम्मीदें हैं, उसे वह पूरी करेगा, नया भारत अब पुरानी सोंच के साथ चलने तैयार नहीं

नई दिल्ली। PM नरेन्द्र मोदी ने रविवार को आकाशवाणी पर ‘मन की बात’ कार्यक्रम में दिल्ली के हुनर हाट का जिक्र करते हुए कहा कि यहां पर विविधता का रंग देखने को मिला। उन्होंने कहा कि वहां पर विशालता, संस्कृति, परम्पराओं, खानपान और जज्बातों की विविधताओं के दर्शन किए। PM मोदी आगे कहा कि मैंने खुद बिहार के लिट्टी चोखे का इस हाट में आनंद लिया।

मैं आपके साथ बारह साल की बेटी काम्या कार्तिकेयन की उपलब्धि की चर्चा जरुर करना चाहूंगा। काम्या ने सिर्फ 12 साल की उम्र में ही माउंट एकांकागुआ को फ़तेह करने का कारनामा कर दिखाया है। ये दक्षिण अमेरिका में ANDES पर्वत की सबसे ऊंची चोटी है। जो करीब 7,000 मीटर ऊंची है।

31 जनवरी 2020 को लद्दाख़ की खूबसूरत वादियां, एक ऐतिहासिक घटना की गवाह बनी। लेह के कुशोक बाकुला रिम्पोची एयरपोर्ट से भारतीय वायुसेना के AN-32 विमान ने जब उड़ान भरी तो एक नया इतिहास बन गया। इस उड़ान में 10% इंडियन बायो जेट फ्यूल का मिश्रण किया गया था। हमारा नया भारत अब पुरानी अप्रोच के साथ चलने को तैयार नहीं है। खासतौर पर न्यू इंडिया की हमारी बहनें और माताएं तो आगे बढ़कर उन चुनौतियों को अपने हाथों में ले रही हैं।

बिहार के पूर्णिया की कहानी देश के लोगों को प्रेरणा से भर देने वाली है। विषम परिस्थितियों में पूर्णिया की कुछ महिलाओं ने एक अलग रास्ता चुना। पहले इस इलाके की महिलाएं, शहतूत या मलबरी के पेड़ पर रेशम के कीड़ों से कोकून तैयार करती थीं। जिसका उन्हें बहुत मामूली दाम मिलता था। आज पूर्णिया की महिलाओं ने एक नई शुरुआत की और पूरी तस्वीर ही बदल कर के रख दी। इन महिलाओं ने सरकार के सहयोग से मलबरी-उत्पादन समूह बनाए। इसके बाद उन्होंने कोकून से रेशम के धागे तैयार किये फिर उन धागों से खुद ही साड़ियां बनवाना शुरू कर दिया जो अब हजारों रुपयों में बिक रही हैं।

PM मोदी ने कहा कि जब मैं चंद्रयान-2 के वक्त बेंगलुरु में था उस वक्त बच्चों का उत्साह देखते ही बनता था। वह उत्साह हम भूल नहीं सकते हैं। उन उत्साह को और बढ़ाने के लिए पहल की गई है। अब श्रीहरिकोटा से होने वाले रॉकेट लॉन्चिंग को बैठकर सीधे देख सकते हैं। इसके लिए ऑनलाइन बुकिंग भी कर सकते हैं। इन दिनों हमारे देश के बच्चों और युवाओं में साइंस और टेक्नोलॉजी के प्रति रूचि लगातार बढ़ रही है। अंतरिक्ष में रिकॉर्ड सैटेलाइट का प्रक्षेपण, नए-नए रिकॉर्ड, नए-नए मिशन हर भारतीय को गर्व से भर देते हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा हुनर हाट में मुझे कई और कारीगरों और शिल्पकारों से मिलने का मौका। हुनर हाट में भाग लेने वाले कारीगरों में करीब 50 प्रतिशत से अधिक महिलाएं हैं। पिछले 3 वर्षों में हुनर हाट से करीब 3 लाख कारीगरों को रोजगार के अनेक अवसर मिले हैं। हुनर हाट में एक दिव्यांग महिला की बातें सुनकर बड़ा संतोष हुआ। उन्होंने मुझे बताया कि पहले वो फुटपाथ पर अपनी पेंटिंग बेचती थी लेकिन हुनर हाट से जुड़ने के बाद उनका जीवन बदल गया। आज वो न केवल आत्मनिर्भर हैं, बल्कि उन्होंने अपना घर भी खरीद लिया है। PM मोदी ने कहा कि बेटियां अब पुरानी बंदिशों को तोड़ रही हैं, यह आस-पास देखने के कई उदाहरण देखने को मिल रहे हैं।

श्री मोदी ने कहा कि जब मौका मिले ऐसी जगहों पर जरूर जाइये। उन्होंने विरासत में मिली परंपराओं पर बात की। उन्होंने कहा कि विदेशों से अलग प्रकार और प्रजातियों की पक्षियां आते हैं।

यह उनका 62वां कार्यक्रम है। नए साल में यह उनका दूसरा मन की बात कार्यक्रम है। पिछले महीने की 26 जनवरी को उन्होंने इस कार्यक्रम नए दशक में नए संकल्प के साथ भारत माता की सेवा करने और दुनिया की अपेक्षानुरूप भारत के उस पर खड़े उतरने की उम्मीद जताई थी।

ज्ञात हो कि 26 जनवरी को अपने पिछले संबोधन में प्रधानमंत्री ने लोगों से नए दशक में नए संकल्प के साथ भारत माता की सेवा करने का आग्रह किया था। उन्होंने कहा था कि दुनिया को भारत से जो उम्मीदें हैं, उसे वह पूरी करेगा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.