विश्व
पुष्टि - 45,347,508
मृत्यु - 1,186,388
ठीक- 32,995,775
भारत
पुष्टि - 8,088,851
मृत्यु - 121,131
ठीक- 7,373,375
रूस
पुष्टि - 1,581,693
मृत्यु - 27,301
ठीक- 1,186,041
फ्रांस
पुष्टि - 1,282,769
मृत्यु - 36,020
ठीक- 115,287
ब्राज़िल
पुष्टि - 5,496,402
मृत्यु - 159,033
ठीक- 4,954,159
अमेरिका
पुष्टि - 9,212,767
मृत्यु - 234,177
ठीक- 5,983,345

कृषि बिल के समर्थन में सरकार के 6 मंत्रियों की प्रेस कॉन्फ्रेंस, राजनाथ बोले- किसानों को किया जा रहा गुमराह

नई दिल्ली। लोकसभा के बाद, राज्‍यसभा में भी कृषि से जुड़े दो बिलों के पास होने और विपक्ष के सदन में हंगामे के बाद सरकार की तरफ से छह कैबिनेट मंत्रियों ने प्रेस कांफ्रेंस की। इनमें राजनाथ सिंह, प्रकाश जावड़ेकर, प्रहलाद जोशी, पीयूष गोयल, थावर चंद गहलोत और मुख्तार अब्बास नकवी शामिल रहे। राजनाथ सिंह ने कहा कि आज राज्यसभा में कृषि से संबंधित 2 विधेयकों पर चर्चा चल रही थी उस समय राज्यसभा में जो हुआ वो जहां दुखद था, वहीं दुर्भाग्यपूर्ण था और उससे भी आगे जाकर मैं कहना चाहूंगा कि वो अत्यधिक शर्मनाक था। ये दोनों विधेयक किसान और कृषि जगत के लिए ऐतिहासिक हैं। इससे किसानों की आय बढ़ेगी। परन्तु किसानों के बीच गलतफहमी पैदा की जा रही है कि एमएसपी खत्म कर दी जाएगी जबकि ऐसा नहीं है। राजनाथ सिंह ने एक बार फिर ये साफ किया कि किसी भी सूरत में एमएसपी समाप्त नहीं होगा। इससे पहले पीएम मोदी भी कई बार ये साफ कर चुके हैं।

विपक्ष के हंगामे पर राजनाथ सिंह ने कहा कि हर किसी ने आसन के साथ हुई बदसलूकी को देखा है, सदस्यों ने नियम पुस्तिका फाड़ डाली, आसन के पास चले गए। मैंने संसद में इस तरह का गलत आचरण कभी नहीं देखा। राज्यसभा के उपसभापति मूल्यों को लेकर प्रतिबद्ध हैं, स्वस्थ लोकतंत्र में इस तरह के आचरण की उम्मीद नहीं की जाती। राज्यसभा उपसभापति के साथ जो दुर्व्यवहार हुआ, सारे देश ने प्रत्यक्ष रूप से देखा है। जहां तक मैं जानता हूं ऐसी घटना आज तक न लोकसभा में हुई है न राज्यसभा में हुई है। संसदीय परंपराओं में विश्वास रखने वाला कोई भी व्यक्ति इस प्रकार की घटना से आहत होगा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.