विश्व
पुष्टि - 60,720,993
मृत्यु - 1,426,841
ठीक- 42,032,104
भारत
पुष्टि - 9,266,705
मृत्यु - 135,261
ठीक- 8,679,138
रूस
पुष्टि - 2,162,503
मृत्यु - 37,538
ठीक- 1,660,419
फ्रांस
पुष्टि - 2,170,097
मृत्यु - 50,618
ठीक- 156,552
ब्राज़िल
पुष्टि - 6,166,898
मृत्यु - 170,799
ठीक- 5,512,847
अमेरिका
पुष्टि - 13,137,962
मृत्यु - 268,219
ठीक- 7,805,280

प्रधानमंत्री मोदी ने की फ्रांस हमले की निंदा, कहा- आतंकवाद के खिलाफ जंग में फ्रांस के साथ है भारत

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को फ्रांस में हमलों की निंदी की जिसमें नीस के चर्च में चाकू से हुआ हमला भी शामिल है, जहां तीन लोगों को मौत के घाट उतार दिया गया। चाकू के साथ घुसे हमलावर ने पुलिस की गोली लगने से पहले दो महिलाओं और एक पुरुष को नोत्रे दामे बासिलिका में गुरुवार सुबह मार डाला। इसमें से एक महिला का उसने गला रेत डाला।

PM मोदी ने ट्वीट किया, ”मैं फ्रांस में हालिया आंतकवादी हमलों की कड़ी निंदा करता हूं, जिसमें आज नीस के चर्च में नृशंस हमला भी शामिल है। फ्रांस के लोगों और पीड़ितों के परिवारों के प्रति हमारी गहरी और हार्दिक संवेदनाएं। आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में भारत फ्रांस के साथ खड़ा है।”

फ्रांस के प्रधानमंत्री जीन कास्टेक्स ने कहा कि हमले के बाद उनके देश ने अलर्ट लेवल को बढ़ाकर ‘इमर्जेंसी’ कर दिया है। यह हमला व्यंग्य पत्रिका शार्ली हेब्दो में पैगंबर मोहम्मद के कार्टून दोबारा छपने के बाद उपजे तनाव के बीच हुआ है। इसी महीने स्टूडेंट्स को पैगंबर का कार्टून दिखाने वाले एक टीचर की भी गला रेतकर हत्या कर दी गई थी। मृतक शिक्षक को सम्मानित किए जाने की वजह से कई इस्लामिक देशों ने फ्रांस के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

अधिकारियों ने बताया कि एक महिला की गला रेतकर हत्या कर दी गई जबकि दो अन्य लोगों को चाकू से गोदकर मार डाला गया। इस दौरान वह ‘अल्लाह हू अकबर’ के नारे लगा रहा था। इसे आतंकवादी हमला माना जा रहा है। हमले को आतंकवादी घटना बताने वाले नीस के मेयर क्रिश्चियन एस्टोरसी ने ट्विटर पर कहा कि कि यह नोत्रे दामे चर्च के पास हुआ और पेरिस में फ्रेंच टीचर सैमुअल पैटी पर हुए हमले जैसी घटना है। उन्होंने कहा कि हमलावर बार-बार अल्लाह हू अकबर चिल्ला रहा था।

चर्च के अंदर मारा गया एक व्यक्ति चर्चा का वॉर्डन माना जा रहा है। मेयर ने कहा, ”हिरासत में लिए जाने के दौरान संदिग्ध चाकू हमलावर को पुलिस ने गोली मारी, वह जिंदा है और अस्पताल ले जाया जा रहा है। उन्होंने कहा, ”बहुत हो चुका, फ्रांस के लिए अब शांति के नियमों से खुद को बाहर निकालने का समय है ताकि निश्चित रूप से इस क्षेत्र से इस्लाम-फासीवाद का सफाया हो सके।”

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.