शीतकालीन के ऐतिहासिक सत्र के पहले दिन राज्यसभा में PM मोदी ने दिए मंत्र, बोले, NCP और BJD से हम सभी को सीखने की आवश्यकता

नई दिल्ली। सोमवार को राज्यसभा का 250वां सत्र भी शुरू हुआ और इस ऐतिहासिक सत्र के अवसर पर देश के प्रधानमंत्री ने राज्यसभा को संबोधित किया। सोमवार को राज्यसभा में संबोधित करते हुए संसद को भारतीय लोकतंत्र की आत्मा करार दिया। PM मोदी ने कहा कि राज्यसभा सेकेंड हाउस सेकेंड्री नहीं। सेकेंड हाउस को सेकेंड्री बनाने की कोशिश न करें। हम सहभागी बनकर देश को आगे ले जाने का काम करते हैं। राज्यसभा को सपोर्टिव हाउस बना रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि राष्ट्र हित को केन्द्रित रखना ही होगा। पीएम मोदी ने कहा कि बिना राज्य के विकास के देश विकास नहीं कर सकता है।

वहीं PM मोदी ने राजनीतिक दलों को लेकर कुछ ऐसी बातें भी कहीं जिनसे राजनीति गलियारे में कयासों का दौर शुरू हो गया है। दरअसल, 250वें सत्र को संबोधित करते हुए PM मोदी ने शरद पवार की राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की तारीफ की। पीएम मोदी ने कहा कि हमें सदनों मे रुकाटव की बजाय संवाद का रास्ता चुनना चाहिए।

उन्होंने पिछले कार्यकाल की उपलब्धि की चर्चा करते हुए PM मोदी ने कहा कि हमारे प्रथम उपराष्ट्रपति डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन जी ने कहा था, हमारे विचार, हमारा व्यवहार और हमारी सोच ही दो सदनों वाली हमारी संसदीय प्रणाली के औचित्य को साबित करेगी। PM मोदी ने कहा, ‘राज्यसभा में दूर दृष्टि का अनुभव है। इसी सदन की परिपक्वता है कि इसने तीन तलाक का कानून पास किया। श्री मोदी ने कहा कि इसी सदन ने जनरल कैटगरी को 10 प्रतिशत आरक्षण देने का काम किया और जीएसटी को लेकर वन नेशन वन टैक्स को लेकर सर्वसहमति बनाने का काम किया।

उन्होंने राज्यसभा में कहा- मैं आज दो पार्टी NCP और BJD की सराहना करना चाहता हूं। इन दलों ने संसदीय नियमों का काफी अनुशासित तरीकों से पालन किया है। वे कभी भी वेल में नहीं आए। हालांकि, उसके बावजूद उन्होंने काफी प्रभावशाली तरीके से अपनी बातें रखी है। मेरे साथ ही अन्य दलों को भी उनसे सीख लेनी चाहिए। संसद का शीतकालीन सत्र आज से शुरू हो चुका है। विपक्षी दल जहां आर्थिक सुस्ती और कश्मीर में स्थिति को लेकर केंद्र को घेरने की तैयारी में हैं वहीं, सरकार नागरिकता (संशोधन) विधेयक समेत तमाम बिल पारित कराना चाहेगी।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में NCP, शिवसेना और कांग्रेस पार्टी सरकार बनाने की कोशिश कर रही है। रविवार को एनसीपी को कोर ग्रुप की बैठक हुई उसके बाद शरद पवार दिल्ली आए हैं। उन्होंने सुबह राज्यसभा की संसदीय कार्यवाही में हिस्सा लिया और शाम को उनका सोनिया गांधी से मिलने का कार्यक्रम है। ऐसे में पीएम मोदी की तरफ से एनसीपी की तारीफ ने सियासी हलचल पैदा करके रख दिया है।

Please follow and like us:
Twitter20
Facebook0
Follow by Email

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!