विश्व
पुष्टि - 17,757,513
मृत्यु - 682,998
ठीक- 11,160,201
भारत
पुष्टि - 1,697,054
मृत्यु - 36,551
ठीक- 1,095,647
रूस
पुष्टि - 839,981
मृत्यु - 13,963
ठीक- 638,410
दक्षिण अफ्रीका
पुष्टि - 493,183
मृत्यु - 8,005
ठीक- 326,171
ब्राज़िल
पुष्टि - 2,666,298
मृत्यु - 92,568
ठीक- 1,884,051
अमेरिका
पुष्टि - 4,705,889
मृत्यु - 156,747
ठीक- 2,327,572

फिर एक बार मेट्रो में हुई अश्लील हरकत, सोशल मीडिया पर वायरल, जागी दिल्ली पुलिस, मामला दर्ज

नई दिल्ली। लाख कोशिशों और सुरक्षा इंतजामों के बाद भी मेट्रो में यात्रा करने वाले मनचले अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं। हाल ही में घटी घटना ने तो मेट्रो में अश्लीलता की पराकाष्ठा ही पार कर डाली। यह अलग बात है कि पुलिस घटना को दबाने में जुटी रही, मगर पीडि़ता ने आरोपी की फोटो खींच ली और उसे अदालत में घसीट ले आई। घटना को गले की फांस बनती देख अब दिल्ली मेट्रो पुलिस ने भी पड़ताल के नाम पर हाथ-पांव मारने शुरू कर दिए हैं।

यह शर्मनाक घटना बुधवार शाम दिल्ली मेट्रो में घटी थी। बवाल तब मचा जब पीडि़ता ने घटना के बारे में सोशल मीडिया पर सबकुछ वायरल कर दिया। पीडि़ता दिल्ली से गुरुग्राम अपने घर लौट रही थी। घटनाक्रम के अनुसार, पीडि़ता मेट्रो के कोच नंबर 7 में टू-सीटर वाली सीट पर बैठी हुई थी। पास ही एक मनचला खड़ा था, जो लगातार लडक़ी को घूरे जा रहा था।

पीडि़ता द्वारा सोशल मीडिया पर वायरल की गई जानकारी के अनुसार, पीडि़ता ने अश्लील हरकत कर रहे मनचले का किसी तरह से फोटो खींच लिया। आरोपी को सबक सिखाने के लिए पीडि़ता घिटोरनी मेट्रो स्टेशन पर उतरकर थाने पहुंची। थाने वालों ने पीडि़ता को भगा दिया। तब लडक़ी ने महिला हेल्पलाइन पर घटना की जानकारी दी।

खुद के गले में फंदा फंसता देख घिटोरनी मेट्रो थाना पुलिस ने यौन उत्पीडऩ व छेड़छाड़ आदि की धाराओं में आपराधिक मामला दर्ज किया। जानकारी के मुताबिक, घटना शाम छह बजे के आस-पास यलो लाइन मेट्रो में घटी थी। मेट्रो पुलिस के मुताबिक आरोपी की उम्र करीब 25-26 साल के आस-पास है। वहीं शिकायतकर्ता लडक़ी की आयु 24 साल है।

पीडि़ता दिल्ली में प्राइवेट जॉब करती है। पीडि़ता ने पुलिस को जो फोटो दी है पुलिस उसी के सहारे आरोपी तक पहुंचने की कोशिश में जुटी है। घटना को घटे दो दिन बीत चुके हैं। इस बाबत डीसीपी मेट्रो और दिल्ली पुलिस मुख्यालय प्रवक्ता की तरफ से अभी तक फिलहाल कोई आधिकारिक बयान नहीं दिया गया है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.