विश्व
पुष्टि - 786,987
मृत्यु - 37,843
ठीक- 165,933
भारत
पुष्टि - 1,251
मृत्यु - 32
ठीक- 102
फ्रांस
पुष्टि - 44,550
मृत्यु - 3,024
ठीक- 7,927
ईरान
पुष्टि - 41,495
मृत्यु - 2,757
ठीक- 13,911
इटली
पुष्टि - 101,739
मृत्यु - 11,591
ठीक- 14,620
अमेरिका
पुष्टि - 164,278
मृत्यु - 3,170
ठीक- 5,507

डिफॉल्टरों के आंकड़ों के फेर में फंसे राहुल, लोकसभा में 50 तो बाहर आकर मांगी 500 डिफॉल्टर की लिस्ट

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने 50 सबसे बड़े डिफॉल्टर्स का नाम पूछने का जवाब देते वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि 25 लाख रुपये से अधिक का डिफॉल्ट करने वाले सभी लोगों के नाम वेबसाइट पर उपलब्ध हैं। इस दौरान उन्होंने यस बैंक के फाउंडर राणा कपूर और प्रियंका गांधी के बीच पेटिंग सौदे को लेकर भी तंज कसने पर विपक्ष दल ने हंगामा करना प्रारंभ कर दिया।

इससे पहले कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने अर्थव्यवस्था और बैंकों की खस्ता हालत का लेकर लोकसभा में केन्द्र सरकार से जवाब मांगा है। राहुल गांधी ने बताया कि अर्थव्यवस्था की हालत बेहद खराब है। बैंकों की हालत खराब है। मुझे लगता है कि इस माहौल में आने वाले दिनों में कुछ और बैंकों की हालत खराब होगी।

राहुल गांधी ने आगे बताया कि मैंने सवाल पूछा था कि देश में बैंकों के सबसे बड़े 50 डिफॉल्टर कौन से हैं, लेकिन में मुझे जवाब नहीं दिया गया। प्रधानमंत्री जी कहते हैं कि जिन लोगों ने देश के बैंकों के पैसे की चोरी की है, उन्हें पकड़ पकड़कर लाऊंगा, लेकिन मेरे द्वारा पूछे गए 50 डिफॉल्टरों के नाम सरकार ने नहीं बताए।

इसका जवाब देते हुए वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि 25 लाख रुपए से अधिक का डिफॉल्ट करने वाले सभी लोगों के नाम वेबसाइट पर उपलब्ध हैं।यदि आप चाहते हैं कि मैं पढ़ूं तो पढ़ सकता हूं। इनके जमाने में जो लोग पैसा लूटकर भाग गए। मोदी सरकार ने कानून बनाया और 4 लाख करोड़ रुपए से अधिक वापस आए। हमारी सरकार ने उनकी प्रॉपर्टी जब्त की।

संसद से बाहर निकलने के बाद पत्रकारों को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि जब आप संसद में सवाल पूछते हैं तो मंत्री जवाब देते हैं फिर आप दूसरा सवाल पूछते हैं, लेकिन आज मैंने सवाल पूछा, मंत्री ने जवाब नहीं दिया। मैंने पूछा था कि सबसे बड़े 500 डिफॉल्टर्स कौन हैं। स्पीकर की ड्यूटी है कि मेरे अधिकारों की रक्षा करें, लेकिन उन्होंने मुझे दूसरा सवाल पूछने नहीं दिया।’

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *