कोविड-19 टास्क फोर्स ने दी चेतावनी- अचानक से सभी प्रतिबंध हटाना ठीक नहीं, कोरोना अभी भी है

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के मामले अब बहुत कम हो गए हैं। ऐसे में कई राज्यों की सरकारें इससे सम्बंधित प्रतिबन्ध हटा रही हैं। दिल्ली में मास्क (Mask) तक को अनिवार्य श्रेणी से हटा दिया गया है। इस बीच लैंसेट आयोग और कोविड-19 टास्क फोर्स (Covid-19 Task Force) ने इसे गलत बताया है। टास्क फोर्स की सदस्य डॉ. सुनीला गर्ग ने कहा कि कोविड-19 उपयुक्त व्यवहार और अन्य संबंधित प्रतिबंधों को अचानक से हटाना अच्छा नहीं है, क्योंकि महामारी अभी खत्म नहीं हुई है. डॉ गर्ग ने बताया, “मास्क का जनादेश भीड़-भाड़ वाली जगहों पर जारी रहना चाहिए. चूंकि हर कोई मास्क पहनकर थक गया है, इसलिए उन पर जुर्माना नहीं लगाने से अधिक लोग मास्क लगाना छोड़ देंगे, जो अच्छा नहीं है, क्योंकि महामारी अभी खत्म नहीं हुई है. दुनिया के कुछ हिस्से एक और प्रकोप के खतरे का सामना कर रहे हैं.”

डॉ. गर्ग ने कहा कि कोविड प्रतिबंध हटाने के लिए एक एकीकृत ²ष्टिकोण होना चाहिए. उन्होंने कहा, “मास्क ना केवल कोविड संक्रमण को रोकता है, बल्कि यह अन्य हवाई संक्रमणों, प्रदूषण और सांस की अन्य बीमारियों को भी रोकता है. मास्क को जारी रखना चाहिए.” डॉ. गर्ग ने कहा कि मास्क अनिवार्यता को हटाने से टीबी और दवा प्रतिरोधी टीबी का चुनौतीपूर्ण बोझ आएगा, क्योंकि पिछले दो वर्षों के दौरान इस तरह की घटनाएं नियंत्रण में थीं.

वैश्विक स्तर पर कोविड संक्रमण में अचानक उछाल के बावजूद भारत में गिरावट का रुख जारी है. महाराष्ट्र, दिल्ली, तेलंगाना, पश्चिम बंगाल जैसे राज्यों ने अप्रैल से शुरू होने वाले कोविड -19 मानदंडों में ढील देने की घोषणा की है. दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने शुक्रवार को अपने आदेश में कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में तत्काल प्रभाव से मास्क नहीं पहनने पर कोई जुर्माना नहीं लगाया जाएगा. हालांकि, उन्होंने भीड़-भाड़ वाली जगहों पर इसका इस्तेमाल जारी रखने की सलाह दी है.

डीडीएमए ने अपने आधिकारिक आदेश में कहा, “अब डीडीएमए ने फैसला किया है कि जनता के लिए सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहनना उचित है. हालांकि, अगले आदेश तक उन्हें नहीं पहनने पर कोई जुर्माना नहीं लगाया जाएगा.” सीएमसी वेल्लोर के महामारी विज्ञानी डॉ जैकब जॉन ने आईएएनएस से बात करते हुए कहा कि मास्क संक्रमण की दर को कम कर सकता है, लेकिन यह दूसरी लहर को नहीं रोक सकता. डॉ. जॉन ने कहा, “जुर्माना लोगों को नियंत्रित करने के अनुचित तरीके हैं. मास्क श्वसन स्राव को कम करते हैं और लोगों की रक्षा करते हैं, लेकिन इसकी सिफारिश की जानी चाहिए, लागू नहीं. इसे भीड़-भाड़ वाली जगहों पर पहना जाना चाहिए क्योंकि यह ना केवल कोविड संक्रमण बल्कि निमोनिया, एलर्जी, प्रदूषकों और कई अन्य बीमारियों से भी बचाता है.”

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.