विश्व
पुष्टि - 155,827,941
मृत्यु - 3,255,399
ठीक- 134,015,119
भारत
पुष्टि - 21,070,852
मृत्यु - 230,151
ठीक- 17,269,076
रूस
पुष्टि - 4,847,489
मृत्यु - 111,895
ठीक- 4,464,550
फ्रांस
पुष्टि - 5,706,378
मृत्यु - 105,631
ठीक- 4,729,174
ब्राज़िल
पुष्टि - 14,936,464
मृत्यु - 414,645
ठीक- 13,529,572
अमेरिका
पुष्टि - 33,321,244
मृत्यु - 593,148
ठीक- 26,035,314

चंदन की माला में कई औषधीय गुण, लाती है समृद्धि, जानिए इसके लाभ

धर्म डेस्क। हिंदू धर्म में चंदन देव पूजा का प्रमुख भाग है। चंदन को सुख-सौभाग्य, आयु और स्वास्थ्यवर्धक बताया गया है। चंदन में कई औषधीय गुण होते हैं इसलिए भी इसे पूजा में शामिल किया जाता है। चंदन की धूप, चंदन का तिलक, चंदन का इत्र, चंदन का अर्क, चंदन की माला आदि पूजा में शामिल किया जाता है। यहां हम बात करने वाले हैं केवल चंदन की माला की। शास्त्रों में कहा गया है चंदन की माला से किए गए मंत्र जप शीघ्र फल देते हैं।

चंदन की माला दो प्रकार की होती है, श्वेत चंदन और रक्त चंदन। आम बोलचाल की भाषा में इसे सफेद चंदन और लाल चंदन के नाम से जाना जाता है। इन दोनों का अलग-अलग महत्व है। सफेद चंदन की माला का प्रयोग भगवान श्रीराम, विष्णु, कृष्ण, दत्तात्रेय आदि की पूजा और जप में किया जाता है, जबकि लाल चंदन की माला का प्रयोग श्रीगणेश, दुर्गा, लक्ष्मी, त्रिपुर सुंदरी आदि के मंत्र जप के लिए किया जाता है। चंदन की माला को सुख-शांति और संपन्न्ता प्रदाता कहा गया है। इस माला से देवी-देवताओं के मंत्रों का जाप करने से वे शीघ्र फलीभूत होते हैं।

चंदन की माला गले में धारण करने से मानसिक शांति की प्राप्ति होती है। जिन लोगों का जीवन दौड़भागपूर्ण होता है। कई तरह की परेशानियों से घिरा रहता है और जो मानसिक रूप से स्थिर नहीं रहते उन्हें सफेद चंदन की माला पहनना चाहिए। इससे उनका दिमाग शांत होगा और वे अपने कार्यों पर ध्यान केंद्रित कर पाएंगे। सफेद चंदन की माला धारण करने से मन मस्तिष्क में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह होता है। सफेद चंदन की माला विद्यार्थियों को जरूर धारण करनी चाहिए। इससे उन्हें अपनी पढ़ाइ्र पर फोकस करने में मदद मिलेगी।

आर्थिक समृद्धि बढ़ाने के लिए लाल चंदन की माला का प्रयोग किया जाता है। मां लक्ष्मी से जुड़े मंत्रों का जाप लाल चंदन की माला से करने से मंत्रों का प्रभाव शीघ्र होता है। नित्य यदि एक माला महालक्ष्मी के मंत्रों का जाप किया जाए तो पैसा चुंबक की तरह खिंचा चला आता है।

चंदन की माला धारण करने का सर्वश्रेष्ठ दिन बृहस्पतिवार होता है। इस दिन प्रात: स्नानादि से निवृत्त होकर। भगवान विष्णु की मूर्ति या चित्र के समीप पीला कपड़ा बिछाएं। चंदन की माला को गंगाजल से धोकर पीले कपड़े पर स्थापित करें। चंदन और हल्दी से पूजन करें। भगवान विष्णु का ध्यान करें, पीले पुष्प अर्पित करें और धारण कर लें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.