विश्व
पुष्टि - 186,349,589
मृत्यु - 4,026,838
ठीक- 170,490,387
भारत
पुष्टि - 30,752,950
मृत्यु - 405,967
ठीक- 29,888,284
रूस
पुष्टि - 5,707,452
मृत्यु - 140,775
ठीक- 5,143,255
फ्रांस
पुष्टि - 5,799,107
मृत्यु - 111,284
ठीक- 5,641,588
ब्राज़िल
पुष्टि - 18,962,786
मृत्यु - 530,344
ठीक- 17,422,854
अमेरिका
पुष्टि - 34,676,896
मृत्यु - 622,213
ठीक- 29,203,308

तुलसी की टिप्स : किस दिन नहीं तोड़ना चाहिए तुलसी का पत्ता, गांठ बांध लें तुलसीदल से जुड़ी ये जरूरी बातें

धर्म डेस्क। तुलसी के पौधे का जितना धार्मिक महत्व है, उतना ही औषधीय महत्व है। ये पौधा जिस घर में होता है वहां सुख-समृद्धि प्रदान करता है। हिंदू धर्म में इसका विशेष महत्व है। खासकर भगवान विष्णु व कृष्ण पूजन इसके बिना संपूर्ण नहीं माना जाता।

पुराणों में भी तुलसीदल की विशेष महिमा बताई गई है। तुलसीदल कभी बासी नहीं माना जाता, न ही ये किसी चीज से अपवित्र होता है।

आयुर्वेद की कई औषधियों में भी तुलसीदल का प्रयोग किया जाता है। वास्तु में भी इसकी महिमा बताई गई है। तुलसी का पौधा सही स्थान पर हो तो आय में वृद्धि देने वाला कहा गया है। इसलिए हमेशा तुलसी को घर के उत्तर और पूर्व दिशा में लगाना चाहिए।

तुलसीदल से संबंधित विशेष बातें :

1. भगवान गणेश को तुलसी नहीं चढ़ानी चाहिए।
2. तुलसी के पौधे और पत्तियों को बिना स्नान नहीं छूना चाहिए और न ही तोड़ना चाहिए।
3. तुलसी के पत्ते हमेशा उंगलियों के पोरों से तोड़ने चाहिए। नाखून के प्रयोग से नहीं।
4. तुलसी का पौधा सूख गया हो तो उसे फेंकना नहीं चाहिए बल्कि नदी में प्रवाहित कर देने चाहिए। या जमीन में दबा देना चाहिए।
5. रविवार के दिन तुलसी के पत्ते नहीं तोड़ने चाहिए।
6. एकादशी के दिन तुलसी का पत्ता तोड़ना वर्जित माना गया है।
7. सूर्य संक्रान्ति, सूर्य ग्रहण, चंद्र ग्रहण के समय पत्ता नहीं तोड़ना चाहिए।
8. शाम के समय में तुलसी के पत्ते नहीं तोड़ने चाहिए।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.