विश्व
पुष्टि - 221,140,621
मृत्यु - 4,575,780
ठीक- 197,635,720
भारत
पुष्टि - 32,988,673
मृत्यु - 440,567
ठीक- 32,138,092
महाराष्ट्र
पुष्टि - 64,82,117
मृत्यु - 1,37,707
ठीक- 62,88,851
केरल
पुष्टि - 41,81,137
मृत्यु - 21,422
ठीक- 39,09,096
कर्नाटक
पुष्टि - 29,54,047
मृत्यु - 37,401
ठीक- 28,98,874
तमिलनाडु
पुष्टि - 26,21,086
मृत्यु - 35,000
ठीक- 25,69,771

छत्तीसगढ़ में तालिबानी शासन, नाबालिग से दुष्कर्म के आरोपी कांग्रेस नेता ने अपनी पार्टी के नेता को ही बांधकर पीटा, देखिए वीडियो

न्यूज़ डेस्क। छत्तीसगढ़ में इस समय कांग्रेस का शासन है। राज्य की बेघल सरकार पूरी तरह अपराधियों और नक्सलियों के सामने आत्मसमर्पण कर चुकी है। इसलिए अपराधियों के हौसले बुलंद हो चुके हैं। हैरानी की बात यह है कि अपराधी ही पुलिस और न्यायालय दोनों की भूमिका निभा रहे हैं। अपराध के खिलाफ आवाज उठाने वाले और गवाहों को ही तालिबानी सजा दे रहे हैं। बालोद के कांग्रेस नेता और जनपद सदस्य राजेश साहू और उनके समर्थकों का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें वे कांग्रेस के नेता छक्कन साहू को बांधकर पिटते दिखाई दे रहे हैं।

दरअसल मामला पुरानी रंजिश का है। कांग्रेस के जनपद सदस्य राजेश साहू पर नाबालिग से दुष्कर्म के मामले में पास्को एक्ट के तहत एक मामला दर्ज हुआ था, जिसमे छक्कन साहू गवाह था। इस मामले में जमानत से छूटकर आने के बाद राजेश बुधवार को अपने समर्थकों और परिवार की महिलाओं के साथ छक्कन की दुकान पर पहुंचा और उसके बाद छक्कन को दुकान से निकालकर पहले तो सड़क पर दौड़ा दौड़ाकर पीटा, उसके बाद सरेआम खंभे से बांधकर पिटाई की।

यहां तक कि बीच बचाव करने आए छक्कन की पत्नी और बच्चों को भी छोड़ा नहीं गया। उनकी भी जमकर पिटाई की गई। घटना का वीडियो वायरल होने के बाद कांग्रेस के जनपद सदस्य राजेश साहू और 9 लोगों पर बलवा का अपराध दर्ज कर लिया गया है। अब कांग्रेस नेता द्वारा ही कांग्रेस नेता की पिटाई यह वीडियो वायरल होने के बाद बीजेपी नेताओं को कांग्रेस पर हमला करने का मौका मिल गया है।

बीजेपी नेता और पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर ने कांग्रेस की छत्तीसगढ़ सरकार पर तंज कसते हुए ट्वीट किया , छत्तीसगढ़(कांग्रेस शासित) में कांग्रेस की दबंगई सर्वोच्च शिखर पर.. प्रशासन लाचार, जनता परेशान.. “बात है अभिमान की, कांग्रेस के स्वाभिमान की….” कांग्रेस की दबंगई में कभी “रोका-छेका” नहीं हो सकता..।।

छत्तीसगढ़ मे जिस तरह खुलेआम कानून-व्यवस्था की धज्जियां उड़ायी जा रही हैं, उसे वायरल वीडिया के माध्यम से पूरा देश देख रहा है। अगर यही वीडियो उत्तर प्रदेश से वायरल हुआ होता, तो प्रियंका गांधी अब तक मुख्यमंत्री योगी और बीजेपी को कोसते हुए तमाम नसीहते दे चुकी होती, लेकिन यहां सब मौन है, क्योंकि यह घटना कांग्रेसियों और उनकी सरकार से जुड़ी है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.