विश्व
पुष्टि - 155,827,941
मृत्यु - 3,255,399
ठीक- 134,015,119
भारत
पुष्टि - 21,070,852
मृत्यु - 230,151
ठीक- 17,269,076
रूस
पुष्टि - 4,847,489
मृत्यु - 111,895
ठीक- 4,464,550
फ्रांस
पुष्टि - 5,706,378
मृत्यु - 105,631
ठीक- 4,729,174
ब्राज़िल
पुष्टि - 14,936,464
मृत्यु - 414,645
ठीक- 13,529,572
अमेरिका
पुष्टि - 33,321,244
मृत्यु - 593,148
ठीक- 26,035,314

किसान आंदोलन : किसानों की गणतंत्र दिवस में ट्रैक्टर परेड को पुलिस की हरी झंडी, योगेंद्र यादव बोले- दिल्ली में करेंगे एंट्री

नई दिल्ली। गणतंत्र दिवस 26 जनवरी के मौके पर राजधानी में ट्रैक्टर परेड को लेकर किसानों और दिल्ली पुलिस के बीच सहमति बन गई है। पुलिस किसानों को दिल्ली में आने और ट्रैक्टर परेड की इजाजत देने को राजी हो गई है। किसान नेताओं ने शनिवार को इसकी जानकारी दी है। किसान नेताओं और दिल्ली पुलिस की बैठक के बाद योगेंद्र यादव ने बताया है कि देश में पहली बार इस 26 जनवरी को किसान गणतंत्र दिवस परेड होगी। पांच दौर की वार्ता के बाद दिल्ली पुलिस ने किसानों की बातें मान ली हैं। सारे बैरिकेड खोले जाएंगे। हम (किसान) ट्रैक्टर लेकर दिल्ली के अंदर जाएंगे और मार्च करेंगे।

केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों ने 26 जनवरी को दिल्ली के आउटर रिंग रोड पर ट्रैक्टरों के साथ मार्च करने का ऐलान किया हुआ है। दिल्ली पुलिस लगातार इस कोशिश में थी कि किसान दिल्ली की सीमाओं के बाहर ही अपना प्रदर्शन करें। इसको लेकर पांच दौर की बातचीत दिल्ली पुलिस के अफसरों और किसान प्रतिनिधियों के बीच हुईं। शनिवार को पांचवें दौर की बातचीत के बाद किसानों ने दिल्ली पुलिस के परेड के लिए सहमत होने की जानकारी दी है। किसानों ने बताया है कि ट्रैक्टर रैली के रूट के बारे में भी मोटे तौर पर सहमति बन गई है। रूट क्या होगा इसको लेकर किसान और पुलिस के अफसर आज रात तक फाइनल जानकारी दे देंगे।

पुलिस से बैठक के बाद योगेंद्र यादव ने कहा है कि 26 जनवरी को हम अपने दिल की भावना व्यक्त करने अपनी राजधानी के अंदर जाएंगे। एक ऐसी ऐतिहासिक किसान परेड होगी जैसी इस देश ने कभी नहीं देखी। यह शांतिपूर्वक होगी और इस देश के गणतंत्र दिवस परेड पर या इस देश की सुरक्षा आन-बान-शान पर कोई छींटा नहीं पड़ेगा। किसान नेता गुरनाम चढूनी ने कहा है कि ट्रैक्टर परेड को लेकर कुछ गाइडलाइंस बनाई जाएंगी, ताकि इसे सही से मैनेज किया जा सके। उन्होंने सभी किसानों से शांति के साथ इस परेड का हिस्सा बनने और जो दिशानिर्देश जारी होंगे, उनका पालन करने की अपील की है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.