विश्व
पुष्टि - 326,836,658
मृत्यु - 5,553,780
ठीक- 266,449,527
भारत
पुष्टि - 37,122,164
मृत्यु - 486,094
ठीक- 35,085,721
महाराष्ट्र
पुष्टि - 71,24,278
मृत्यु - 1,41,756
ठीक- 67,17,125
केरल
पुष्टि - 53,42,953
मृत्यु - 50,568
ठीक- 52,14,862
कर्नाटक
पुष्टि - 31,53,247
मृत्यु - 38,411
ठीक- 29,73,470
तमिलनाडु
पुष्टि - 28,91,959
मृत्यु - 36,956
ठीक- 27,36,986

मुख्यमंत्री ने जशपुर जिला अधिकारियों की समीक्षा बैठक ली, शासकीय योजनाओं से लाभान्वित करने के दिये निर्देश

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल विधानसभाओं के प्रदेशव्यापी भेंट-मुलाकात के दौरान जहां ग्रामीणों से सीधा संवाद कर योजनाओं के क्रियान्वयन की जानकारी ले रहे है, वहीं दूसरी ओर जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ बैठक कर शासन के मंशानुरूप समयसीमा में योजनाओं से लाभान्वित करने हेतु निर्देशित कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने आज पत्थलगांव के विश्राम गृह में अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि जशपुर जिला प्राकृतिक रूप से बहुत अधिक सुंदर है। साथ ही साथ कई चुनौतियां भी है, इसलिए काम करने की गुंजाइश अधिक है और सबको मिलकर काम भी करना है। बच्चों में कुपोषण और महिलाओं में एनीमिया को दूर करने के लिये योजनाएं संचालित है, जिसके बेहतर परिणाम देखने को मिले है। अधिकारी एनीमिया और कुपोषण दूर करने के चलाई जा रही योजनाओं का सर्वोच्च प्राथमिकता के साथ क्रियान्वयन करें।

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि लोगों की आय बढ़ाना हमारा प्रमुख उद्देश्य होना चाहिए। कृषि व लघु वनोपज के साथ-साथ जिले में मछली पालन, बकरी पालन, सुकर पालन को आय का प्रमुख जरिया बनाने के प्रयास को बढ़ावा दिया जाये। आवर्ती चराई, राजस्व गौठान, रूरल इंडस्ट्रीयल पार्क में अजीविकामूलक गतिविधियों को और बढ़ाएं। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि बस्तर की तरह यहां भी जनजातियों के लिए आस्था मूलक कार्यों को बढ़ावा देना है। यहाँ आदिवासी के आस्था केंद्र सरना स्थल को व्यवस्थित व सुंदर बनाने का काम किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अभियान चलाकर बच्चों के जाति प्रमाण पत्र बनाये जाएं। यदि पिता का जाति प्रमाण पत्र है, तो बच्चों का तत्काल जाति प्रमाण जारी किया जाए।

मात्रात्मक त्रुटि के दृष्टिगत जिन जातियों को अधिसूचित किया गया है, उसकी सूची कार्यालयों में चस्पा करें। उन्होंने कहा कि लगातार आवेदन देने के बाद भी यदि किसी व्यक्ति का काम न हो, यह स्वीकार्य नहीं है। लोक सेवा गांरटी का पालन हो और समयसीमा में लोगों के काम हो जाये। मुख्यमंत्री ने कहा कि शासन आदिवासी, किसान, मजदूर और शासकीय कर्मचारियों के साथ सभी का ध्यान रख रही है। अधिकारी भी इसी तरह लोगों की समस्याओं को दूर करें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.