विश्व
पुष्टि - 326,836,658
मृत्यु - 5,553,780
ठीक- 266,449,527
भारत
पुष्टि - 37,122,164
मृत्यु - 486,094
ठीक- 35,085,721
महाराष्ट्र
पुष्टि - 71,24,278
मृत्यु - 1,41,756
ठीक- 67,17,125
केरल
पुष्टि - 53,42,953
मृत्यु - 50,568
ठीक- 52,14,862
कर्नाटक
पुष्टि - 31,53,247
मृत्यु - 38,411
ठीक- 29,73,470
तमिलनाडु
पुष्टि - 28,91,959
मृत्यु - 36,956
ठीक- 27,36,986

आखिर 72 वर्ष बाद पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर को माना भारत का अंग, UNHRC में PAK विदेश मंत्री की जुबां पर आया सच

जिनेवा। जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद पूरी दुनिया में मात खाए पाकिस्तान संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (UNHRC) की बैठक में पाकिस्तान ने जम्मू कश्मीर को भारत का हिस्सा माना है। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी मीडिया से बातचीत के लिए मुखातिब हुए तो वो सच सामने आ गया जो इतिहास के पन्नों में 72 साल पहले दर्ज हो चुका था। आखिर 72 वर्ष बाद पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर को भारत का हिस्सा मान लिया है।

मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा, ‘भारत दुनिया को यह दिखाना चाहता है कि कश्मीर में जीवन फिर से सामान्य हो गया है। अगर ऐसा है तो भारत अपने जम्मू-कश्मीर में अंतरराष्ट्रीय मीडिया, एनजीओ और सिविल सोसाइटीज को जाने क्यों नहीं दे रहा, ताकि वे वहां का हाल देख सकें।’

पाकिस्तान ने जम्मू कश्मीर को भारत का हिस्सा माना है। UNHRC में पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा है कि जम्मू कश्मीर भारत का राज्य है। पाकिस्तान के विदेश मंत्री भी बात-बात में सच बोल बैठे। उनके बयान का एक वीडियो भी सामने आया है।

पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNHRC) में कश्मीर का मुद्दा उठाते हुए मंगलवार को आरोप लगाया कि भारत ने कश्मीर को एक जेल में बदल दिया है। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने UNHRC में कश्मीर मुद्दे को उठाया। उन्होंने कहा कि बीते छह हफ्तों से हुर्रियत कांफ्रेंस के नेता नजरबंद हैं। उन्होंने कहा कि ‘अधिकृत कश्मीर’ को दुनिया की सबसे बड़ी जेल बना दिया गया है।

उन्होंने प्रतिनिधियों से कहा, “आप सभी को हमने BBC की रिपोर्ट की कॉपी दी है। आप उसे पढ़ लें जिसमें कश्मीरी खुद अपने मुंह से अपने ऊपर होने वाले जुल्म का बयान कर रहे हैं।” कुरैशी ने कहा कि भारत अपने आप को दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र बताता है जबकि वह कश्मीरी बहुसंख्यकों को अल्पसंख्यक बनाना चाहता है।

उन्होंने कहा कि ब्रिटिश मीडिया ने कश्मीर में हो रहे जुल्म को बेनकाब किया है। वहां दवाओं की भारी कमी है। उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से अपील की कि वह कश्मीर मसले को हल कराने के लिए दखल दे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.