छूट-पुट घटनाओं के बीच झारखंड में विधानसभा का प्रथम चरण चुनाव संपन्न,13 सीटों के लिए 62.44 प्रतिशत हुआ मतदान

रांची। झारखंड विधानसभा चुनाव के पहले चरण में शनिवार को शाम पांच बजे तक 13 सीटों के लिए 64.44 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया है। ये आंकड़े चुनाव आयोग के हैं, हालांकि अंतिम तौर पर गणना होने के बाद इन आंकड़ों में कुछ परिवर्तन भी संभव है। झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए 13 सीटों पर सुबह 7 बजे से मतदान शुरू हुआ। सबसे ज्यादा 71.47 प्रतिशत मतदान लोहरदगा विधानसभा सीट पर हुआ। वहीं चतरा में 56.59 प्रतिशत, गुमला में 67.30 प्रतिशत, बिशुनपुर में 69.80, मनिका में 62.66, लातेहार में 67.20 प्रतिशत मतदान हुआ। जबकि पांकी में 64.10, डाल्टनगंज में 63.90, विश्रामपुर में 61.60, छतरपुर में 62.30, हुसैनाबाद में 60.90, गढ़वा में 66.04 और भवनाथपुर में 67.34 प्रतिशत वोट पड़ा। पहले चरण में नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में भारी सुरक्षा-व्यवस्था के बीच मतदान हुआ।

डाल्टनगंज विधानसभा क्षेत्र के चैनपुर प्रखंड के अंतर्गत कोशियारा मतदान केंद्र पर कांग्रेस प्रत्याशी के.एन. त्रिपाठी व उनके समर्थकों ने हंगामा किया। पिस्टल लहराने की भीघटना हुई। उधर त्रिपाठी का कहना है कि भाजपा समर्थकों ने उन्हें जबरन मतदान केंद्र पर जाने से रोका। इस दौरान वाहन पर पथराव किया गया।

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, त्रिपाठी समर्थकों और भाजपा समर्थकों में गाली-गलौज भी हुई। इसके बाद मतदान केंद्र पर तैनात सुरक्षाबल और त्रिपाठी के अंगरक्षक ने बीच-बचाव कर उस मतदान केंद्र से त्रिपाठी को रवाना कर दिया।

प्रथम चरण में चतरा (एससी), गुमला (एसटी), बिशुनपुर (एसटी), लोहरदगा (एसटी), मनिका (एसटी), लातेहार (एससी), पांकी, डालटनगंज, विश्रामपुर, छतरपुर (एससी), हुसैनाबाद, गढ़वा और भवनाथपुर सीटों के लिए मतदान हुआ।

पहले चरण में कुल 37,78,963 मतदाताओं में 19,79,991 पुरुष और 17,98,966 महिलाएं और पांच तीसरे लिंग के मतदाता शामिल हैं। इन सीटों पर कुल 189 उम्मीदवार हैं, जिनमें 15 महिलाएं हैं। भवनाथपुर विधानसभा सीट पर 28 उम्मीदवार हैं।

पहले चरण के तहत 4,892 बूथों पर मतदान हुआ है। जिनमें 4,585 ग्रामीण क्षेत्रों और शेष 307 नगरीय क्षेत्र में स्थित हैं। मतदान बूथों को इस बार नक्सली और गैर-नक्सली क्षेत्रों में विभाजित कर किया गया।
इस चरण में चुनाव लड़ रहे प्रमुख उम्मीदवारों में झारखंड के स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वर उरांव और पूर्व मंत्री तथा भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के उम्मीदवार भानु प्रताप शाही शामिल हैं।

पहले चरण में भाजपा 12 सीटों पर चुनाव लड़ रही है और एक सीट पर निर्दलीय प्रत्याशी को समर्थन दे रही है। झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो), कांग्रेस, राष्ट्रीय जनता दल (राजद) गठबंधन के तहत लड़ रहे हैं और इनमें झामुमो चार, कांग्रेस छह और राजद तीन सीटों पर चुनाव लड़ रहे हैं। नौ सीटों पर भाजपा और झामुमो, कांग्रेस और राजद गठबंधन के बीच सीधी लड़ाई है।

तीन सीटों पर त्रिकोणीय मुकाबला है। इनमें लोहरदगा सीट पर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वर उरांव, कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और अब भाजपा विधायक सुखदेव भगत और ऑल झारखंड स्टूडेंट्स यूनियन उम्मीदवार नीरू भगत के बीच मुकाबला है।

हुसैनाबाद सीट पर मुकाबला चतुष्कोणीय है। यहां पूर्व मंत्री और राकांपा उम्मीदवार कमलेश ने मतदाताओं को आकर्षित किया है। वह मधु कोड़ा सरकार में मंत्री थे और घोटालों के विभिन्न मामलों में जेल गए थे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.