विश्व
पुष्टि - 326,836,658
मृत्यु - 5,553,780
ठीक- 266,449,527
भारत
पुष्टि - 37,122,164
मृत्यु - 486,094
ठीक- 35,085,721
महाराष्ट्र
पुष्टि - 71,24,278
मृत्यु - 1,41,756
ठीक- 67,17,125
केरल
पुष्टि - 53,42,953
मृत्यु - 50,568
ठीक- 52,14,862
कर्नाटक
पुष्टि - 31,53,247
मृत्यु - 38,411
ठीक- 29,73,470
तमिलनाडु
पुष्टि - 28,91,959
मृत्यु - 36,956
ठीक- 27,36,986

हांगकांग आंदोलन से गुस्साए चीनी राष्ट्रपति जिनपिंग ने दी ‘हड्डी-पसली तोडऩे’ की चेतावनी

नई दिल्ली। हांगकांग में विरोध प्रदर्शन नहीं थमने से बौखलाए चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने असंतुष्टों को सख्त चेतावनी देते हुए कहा कि चीन को तोड़ने की कोई कोशिश करने वालों की ‘हड्डी-पसली तोड़ दी जाएगी।’ बीबीसी ने चीन के सरकारी प्रसारक सीसीटीवी के हवाले से बताया कि रविवार को नेपाल की राजकीय यात्रा के दौरान उनकी यह टिप्पणी आई।
हांगकांग की कई शांतिपूर्ण रैलियां रविवार को दंगा पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़पों में बदल गईं। बीजिंग समर्थक मालूम पड़ने वाले सार्वजनिक परिवहन स्टेशनों और दुकानों को नुकसान पहुंचाया गया। कई इलाकों में रैलियां निकाली गईं और रविवार दोपहर तक एमटीआर -हांगकांग के मेट्रो पर कम से कम 27 स्टेशनों को बंद कर दिया गया।पुलिस ने कहा कि उन्होंने प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए बहुत कम बल प्रयोग किया, लेकिन टेलीविजन फूटेज में नजर आया कि सप्ताहांत में खरीदारी करने वाले लोग भी इस अराजकता की चपेट में आ गए।
अधिकारियों के शॉपिंग सेंटर में पहुंच जाने के बाद कुछ चीखते हुए और घायल अवस्था में नजर आए। पुलिस ने एक शॉपिंग मॉल में प्रदर्शनकारियों के समर्थन में नारे लगा रहे लोगों पर बल प्रयोग किया। साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट के अनुसार, प्रशासन ने कहा कि मॉन्ग कोक पुलिस स्टेशन पर पेट्रोल बम फेंका गया और एक पुलिस अधिकारी की गर्दन पर चीरा लग गया। पुलिस अधिकारी की हालत स्थिर है। प्रदर्शनकारियों ने एक अन्य शख्स को कथित तौर पर बुरी तरह से पीट दिया, क्योंकि उसके बैग में छड़ी मिली और उसे अंडरकवर पुलिस अधिकारी समझ लिया गया। चीन को प्रत्यर्पण की अनुमति देने के प्रस्तावों के खिलाफ हांगकांग में जून में विरोध प्रदर्शन शुरू हुआ था।

हालांकि, बाद में विधेयक को वापस ले लिया गया, लेकिन व्यापक रूप से विरोध प्रदर्शन होना जारी रहा और प्रदर्शनकारी पूर्ण लोकतंत्र की मांग और पुलिस क्रूरता के दावों की जांच कराए जाने की मांग कर रहे हैं। सविनय अवज्ञा शुरू होने के बाद से 2,300 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.