मुझे याद है 2013 का दृश्य जब आंतरिक सुरक्षा चरमाराई थी, महिलाओं की सुरक्षा ताक पर थी, प्रधानमंत्री को कोई प्रधानमंत्री नहीं मानता था : अमित शाह

नई दिल्ली। गृहमंत्री अमित शाह ने कहा है कि आज इत्तेफाक है कि जिस दिन मैं AIMA के 46वें Convention कार्यक्रम में आया हूं उसी दिन PM नरेन्द्र मोदी जी का जन्मदिन भी है। सभी देशवासियों के लिए मोदी जी का जन्मदिन खास और शुभ इसलिए भी है कि उन्होंने जनता के मन में विश्वास जगाया है कि 21वीं सदी भारत की हो सकती है। गृह मंत्री शाह ने कहा कि New Indian की कल्पना में ही महान भारत की कल्पना समाहित है। ये कल्पना मोदी जी ने 130 करोड़ भारतीयों के सामने रखी। एक व्यक्ति शायद कुछ न कर सके लेकिन 130 करोड़ लोग एक-एक कदम आगे बढ़ा ले तो देश 130 करोड़ कदम आगे बढ़ जाता है। गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि कोई सरकार 30 साल चलती है तो पांच बड़े फैसले ले पाती है, लेकिन मोदी जी की जो सरकार पांच साल चली इसने 50 से ज्या दा बड़े फैसले लेकर देश को परिवर्तित करने का काम किया है।

गृहमंत्री श्री शाह ने कहा कि एक निर्णायक सरकार देने का काम PM नरेन्द्र मोदी जी ने किया है। 2013 का दृश्य मुझे याद है, भ्रष्टाचार चरम पर था, सीमाओं की सुरक्षा का कोई ठौर ठिकाना न था, आंतरिक सुरक्षा चरमाराई थी, महिलाओं की सुरक्षा ताक पर थी, प्रधानमंत्री को कोई प्रधानमंत्री मानता ही नहीं था, तब लोगों को लगता था कि देश किस दिशा में बढ़ रहा है। हमने कभी भी निर्णय लोगों को क्या अच्छा लगेगा ये सोचकर नहीं लिया, बल्कि लोगों के लिए क्या अच्छा है ये सोचकर हमने निर्णय लिए हैं। यही देश के परिवर्तन का आधार है।

अमित शाह ने कहा कि जब भी देश में सरकारें बनी तो 4 बड़े विवादों में घिरी रहीं। सरकार गरीबों की है या अमीरों की, किसानों के लिए काम करने वाली है या उद्योगों के लिए, समाजवाद के सिद्धांत पर आगे बढ़ने वाली है या रिफॉर्म के आधार पर मोदी जी ने इनको समाप्त कर समान विकास किया है। शाह ने आगे कहा कि जब हम एयर स्ट्राइक और सर्जिकल स्ट्राइक जैसे फैसले लेते हैं तब कई सारी चीजें सामने होती हैं कि युद्ध होगा तब क्या होगा, गड़बड़ हो जाएगा तो क्या होगा। तब उस समय भी दृढ़ता के साथ देश की सुरक्षा के साथ एक इंच भी समझौता हम नहीं करेंगे ये दृढ़ निश्चय के साथ मोदी सरकार है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.