विश्व
पुष्टि - 326,836,658
मृत्यु - 5,553,780
ठीक- 266,449,527
भारत
पुष्टि - 37,122,164
मृत्यु - 486,094
ठीक- 35,085,721
महाराष्ट्र
पुष्टि - 71,24,278
मृत्यु - 1,41,756
ठीक- 67,17,125
केरल
पुष्टि - 53,42,953
मृत्यु - 50,568
ठीक- 52,14,862
कर्नाटक
पुष्टि - 31,53,247
मृत्यु - 38,411
ठीक- 29,73,470
तमिलनाडु
पुष्टि - 28,91,959
मृत्यु - 36,956
ठीक- 27,36,986

PM श्री मोदी ने केवड़िया, गुजरात में मां नर्मदा की कि पूजा-आरती, राष्ट्र की शांति और समृद्धि की कामना , हर हर नर्मदे !

केवडिया। PM मोदी ने अपने जन्मदिन के अवसर पर सरदार सरोवर बांध पहुंचकर नर्मदा नदी की पूजा-अर्चना की। उन्होंने अपना जन्मदिन प्रकृति के बीच में रहकर मनाया। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बांध के पास ‘जंगल सफारी’ का जायजा लिया। PM मोदी ने सरदार सरोवर बांध पर नर्मदा नदी की आरती की। नर्मदा नदी पर बने सरदार सरोवर बांध के उच्चतम स्तर 138.68 मीटर तक पानी भर जाने के अवसर पर गुजरात सरकार ‘नमामी देवी नर्मदा महोत्सव’ का आयोजन कर रही है। इसी में शामिल होने के लिए प्रधानमंत्री मंगलवार सुबह केवडिया पहुंचे। प्रधानमंत्री के साथ-साथ मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने भी नर्मदा नदी की पूजा की। मोदी केवडिया में बटरफ्लाय गार्डन भी गए, जहां उन्होंने केसरिया रंग की टाइगर तितली को राज्य तितली घोषित किया।

उन्होंने दिन की शुरुआत अपने गृह राज्य गुजरात में ‘स्टेच्यू ऑफ यूनिटी’ तथा नर्मदा नदी पर बने सरदार सरोवर बांध का अवलोकन करने के साथ की। दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा कहे जाने वाले ‘स्टेच्यू ऑफ यूनिटी’ का अनावरण पिछले वर्ष 31 अक्टूबर को पटेल की जयंती के दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ही किया था। उन्होंने हेलिकॉप्टर से स्टेच्यू का एक वीडियो बनाया था, उस वीडियो को उन्होंने ट्वीट भी किया। वर्ष 2017 में जलाशय की ऊंचाई बढ़ाई गई थी। उसके बाद से यह पहली बार है जब रविवार शाम को बांध में पानी इसके उच्चतम स्तर 138.68 मीटर तक पहुंचा है।

गुजरात की जीवनरेखा मानी जाने वाली नर्मदा नदी में आए पानी के ‘स्वागत’ में प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने बांध स्थल पर पूजा की। प्रधानमंत्री बांध के निकट सभा को संबोधित भी करेंगे। पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए ‘स्टेच्यू ऑफ यूनिटी’ और बांध के निकट जारी कई विकास परियोजनाओं का भी उन्होंने अवलोकन किया। एक अधिकारी ने बताया कि इन परियोजनाओं में रिवर राफ्टिंग, जंगल सफारी पार्क, बटरफ्लाय पार्क और एकता नर्सरी शामिल हैं। प्रधानमंत्री खालवानी सफारी में इको-टूरिज्म स्थल पर भी पहुंचे और संभवत: उन्होंने वहां हिरण देखा। उन्होंने नर्मदा के तट पर बसे गरूड़ेश्वर गांव में दत्त मंदिर के दर्शन भी किए।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.