विश्व
पुष्टि - 326,836,658
मृत्यु - 5,553,780
ठीक- 266,449,527
भारत
पुष्टि - 37,122,164
मृत्यु - 486,094
ठीक- 35,085,721
महाराष्ट्र
पुष्टि - 71,24,278
मृत्यु - 1,41,756
ठीक- 67,17,125
केरल
पुष्टि - 53,42,953
मृत्यु - 50,568
ठीक- 52,14,862
कर्नाटक
पुष्टि - 31,53,247
मृत्यु - 38,411
ठीक- 29,73,470
तमिलनाडु
पुष्टि - 28,91,959
मृत्यु - 36,956
ठीक- 27,36,986

गुरू बाबा घासीदास जी के उपदेश मानव जाति के लिए अनुकरणीय : मुख्यमंत्री श्री बघेल

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सतनाम पंथ के प्रवर्तक गुरू बाबा घासीदास जी की जयंती 18 दिसम्बर के अवसर पर प्रदेशवासियों को बधाई दी है। श्री बघेल ने कहा कि गुरू बाबा घासीदास जी ने दुनिया को सत्य, अहिंसा और सामाजिक सद्भावना का मार्ग दिखाया। गुरू बाबा घासीदास के उपदेश समस्त मानव जाति के लिए अनुकरणीय हैं। उन्होंने सम्पूर्ण मानव जाति को ’मनखे-मनखे एक समान’ के प्रेरक वाक्य के साथ यह संदेश दिया कि सभी मनुष्य एक समान है। गुरू घासीदास जी ने अपने उपदेशों के माध्यम से दलित-शोषित समाज कोे कुरीतियों, रूढ़ियों से दूर कर उनके नैतिक और चारित्रिक विकास का अनुपम उदाहरण प्रस्तुत किया है। गुरू बाबा घासीदास जी ने लोगों को मानवीय गुणों के विकास के लिए रास्ता दिखाया और उनमें नैतिक मूल्यों की पुनर्स्थापना की। श्री बघेल ने कहा कि गुरू घासीदास जी का पशुओं के प्रति भी गहरा प्रेम था। राज्य सरकार भी उनकेे बताए रास्ते पर चलकर काम कर रही है। हम सबको गुरू बाबा घासीदास जी के संदेशों को चारो ओर फैलाने की जरूरत है, जिससे समानता, समरसता और सत्यनिष्ठा का वातावरण बना रहे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.