असत्य-फर्जी जाति प्रमाण पत्र मामले में पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के खिलाफ मामला दर्ज

रायपुर। छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले की पुलिस ने पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के खिलाफ फर्जी जाति प्रमाण पत्र प्राप्त करने के मामले में प्राथमिकी दर्ज की है। बिलासपुर जिले के पुलिस अधिकारियों ने गुरुवार को यहां बताया कि जिले के गौरेला थाने में पुलिस ने अजीत जोगी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। वर्ष 2013 के विधानसभा चुनाव के दौरान मरवाही विधानसभा क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी की प्रत्याशी रही समीरा पैकरा की शिकायत पर पुलिस ने यह मामला दर्ज किया है। बिलासपुर जिले के पुलिस अधीक्षक प्रशांत अग्रवाल ने बताया कि पुलिस ने भारतीय दंड संहिता की धारा 420, 467, 468 और 471 के तहत मामला दर्ज किया है।

श्री अग्रवाल ने बताया कि समीरा पैकरा ने सेवानिवृत्त शासकीय अधिकारी पतरस तिर्की के शपथपत्र को अधार बनाकर पुलिस में शिकायत की थी। जिसके बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया। मामले की जांच की जा रही है। पैकरा ने संवाददाताओं से बातचीत के दौरान कहा है कि पतरस तिर्की वर्ष 1967-68 में बिलासपुर में नायब तहसीलदार के पद पर पदस्थ थे। उन्होंने अपने शपथ पत्र में कहा है कि उन्होंने कभी भी अजीत जोगी को जाति प्रमाण पत्र जारी नहीं किया था। श्री पैकरा ने कहा कि शपथ पत्र में यह भी कहा गया है कि जोगी वर्ष 1967-68 के दौरान जारी जाति प्रमाण पत्र का उपयोग करते हैं वह असत्य है।

उन्होंने कहा कि तिर्की ने शपथ पत्र में कहा है कि यदि मेरे :तिर्की: द्वारा हस्ताक्षर किया हुआ कोई भी जाति प्रमाण पत्र अजीत जोगी प्रस्तुत करते हैं वह झूठा और असत्य है। इस अधार पर उन्होंने (समीरा पैकरा) जोगी के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। पूर्व मुख्यमंत्री की जाति की जांच के लिए बनी उच्च स्तरीय प्रमाणीकरण छानबीन समिति ने पिछले महीने अजीत जोगी के कंवर आदिवासी होने के प्रमाण पत्र को खारिज कर दिया था। इसके बाद पिछले सप्ताह भी अजीत जोगी के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था।

इससे पहले समीरा पैकरा की शिकायत पर पुलिस ने बीते मंगलवार को अजीत जोगी के पुत्र अमित जोगी को गिरफ्तार कर लिया था। अमित जोगी अभी जेल में है। छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण के बाद अजीत जोगी राज्य के प्रथम मुख्यमंत्री बने थे। वर्ष 2000 से वर्ष 2003 तक वे राज्य के मुख्यमंत्री रहे। इस दौरान वे अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिए आरक्षित मारवाही विधानसभा क्षेत्र से विधायक रहे। वर्ष 2003 में कांग्रेस जब भाजपा से पराजित हुई तब रमन सिंह राज्य के मुख्यमंत्री बने। अजीत जोगी के पुत्र अमित जोगी को जब कांग्रेस से निष्कासित किया गया था तब जोगी ने नई पार्टी का गठन कर लिया था। अभी वह जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के मुखिया हैं तथा मरवाही विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.