विश्व
पुष्टि - 326,836,658
मृत्यु - 5,553,780
ठीक- 266,449,527
भारत
पुष्टि - 37,122,164
मृत्यु - 486,094
ठीक- 35,085,721
महाराष्ट्र
पुष्टि - 71,24,278
मृत्यु - 1,41,756
ठीक- 67,17,125
केरल
पुष्टि - 53,42,953
मृत्यु - 50,568
ठीक- 52,14,862
कर्नाटक
पुष्टि - 31,53,247
मृत्यु - 38,411
ठीक- 29,73,470
तमिलनाडु
पुष्टि - 28,91,959
मृत्यु - 36,956
ठीक- 27,36,986

आर्टिकल 370 खत्म हो जाने के बाद अब कश्मीर विकास की नई रफ्तार पकड़ेगा: CM योगी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को कहा कि आर्टिकल 370 के बारे में लिया गया निर्णय जम्मू-कश्मीर के साथ-साथ लद्दाख के विकास के लिए एक नया क्रांतिकारी कदम है। योगी ने राज्यसभा के बाद लोकसभा से भी जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन विधेयक को मंजूरी मिलने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को बधाई दी। उन्होंने कहा कि आर्टिकल 370 के बारे में लिया गया निर्णय जम्मू कश्मीर के साथ-साथ लद्दाख के विकास के लिए एक नया क्रांतिकारी कदम है। आर्टिकल 370 खत्म हो जाने के बाद अब कश्मीर विकास की नई रफ्तार पकड़ेगा। वहां की माताओं बहनों, नौजवानों, वनवासियों, अनुसूचित जाति, जनजाति और अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों के लिए यह एक बहुत बड़ी सौगात है। मुख्यमंत्री ने कहा कि गृहमंत्री अगले पांच साल में कश्मीर को विकास के नए मॉडल के रूप में प्रस्तुत करेंगे। इस कदम के बाद से बाबा भीमराव अंबेडकर, श्यामा प्रसाद मुखर्जी और देश के स्वतंत्रता सेनानियों की भावनाओं का सम्मान किया गया है।

उन्होंने कहा कि अगर आतंकवाद की समस्या का समाधान करना है तो जम्मू-कश्मीर के अंदर वहां के युवाओं, किसानों और समाज के विभिन्न तबकों को विकास की मुख्यधारा के साथ जोड़कर उनके सर्वांगीण विकास का मार्ग प्रशस्त करना है। इसके लिए आर्टिकल 370 का समाप्त होना आवश्यक था और कश्मीर के व्यापक हित को ध्यान में रखकर प्रधानमंत्री की प्रेरणा से उनके मार्गदर्शन में ऐतिहासिक कदम उठाया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस ने नकारात्मक राजनीति के माध्यम से देश को गुमराह करने का प्रयास किया है। एक गलती जो 1952 में हुई, एक गलती जो 1954 में कांग्रेस के तत्कालीन नेतृत्व ने की थी, उस गलती से भी आज भी नहीं उबर पा रहे हैं। उन्होंने कहा कि डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी का बलिदान आज सार्थक हो गया है।

योगी ने कहा कि देश के अंदर दो प्रधान, दो विधान, दो निशान को मुखर्जी ने भारत की संप्रभुता के लिए एक खतरनाक संकेत माना था। उस दृष्टि से आज की घटना, कल राज्यसभा में गृहमंत्री के द्वारा प्रस्तुत करना और उसे पास कराना अपने आप में एक बड़ी घटना है। वहीं, कांग्रेस की रायबरेली सदर विधायक अदिति सिंह ने ट्वीट किया कि वह फैसले का समर्थन करती हैं। उन्होंने कहा कि इससे जम्मू कश्मीर को मुख्यधारा में लाने में मदद मिलेगी। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने ट्वीट कर कहा कि जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन विधेयक 2019 के लोकसभा व राज्यसभा में पास होने पर सभी देशवासियों को बधाई। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे विश्वास है कि आर्टिकल 370 और 35A के हटने से जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोग भी भारत की सामाजिक, आर्थिक व राजनीतिक न्याय की विकास यात्रा में सहयात्री बन सकेंगे।’’

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.