विश्व
पुष्टि - 155,827,941
मृत्यु - 3,255,399
ठीक- 134,015,119
भारत
पुष्टि - 21,070,852
मृत्यु - 230,151
ठीक- 17,269,076
रूस
पुष्टि - 4,847,489
मृत्यु - 111,895
ठीक- 4,464,550
फ्रांस
पुष्टि - 5,706,378
मृत्यु - 105,631
ठीक- 4,729,174
ब्राज़िल
पुष्टि - 14,936,464
मृत्यु - 414,645
ठीक- 13,529,572
अमेरिका
पुष्टि - 33,321,244
मृत्यु - 593,148
ठीक- 26,035,314

कुपोषित बच्चों के लिए पोषण पुर्नवास केन्द्र बना तन्दुरूस्ती का केन्द्र, एक वर्ष में 457 कुपोषित बच्चे हुए लाभान्वित

रायपुर(आईएसएनएस)। राज्य सरकार कुपोषित बच्चों को कुपोषण मुक्त करने के लिए नीति एवं योजना तैयार कर बेहतर प्रयास कर रही है। इसी का परिणाम है कि अंबिकापुर जिले में संचालित एनआरसी (पोषण पुर्नवास केन्द्र) में पिछले एक वर्ष में भर्ती लगभग 457 कुपोषित बच्चों को सुपोषित किए जा चुके हैं। पोषण पुर्नवास केन्द्र में कुपोषित बच्चों का चिकित्सकीय देख भाल के साथ समुचित पोषण आहार प्रदान कर तन्दुरूस्त किया जा रहा है।

पोषण पुनर्वास केंद्रों में 5 वर्ष तक के गंभीर कुपोषित बच्चों को चिकित्सीय व पोषण सुविधाएं प्रदान की जाती हैं। इसके अलावा बच्चों के माताओं तथा अन्य देखभालकर्ताओं को बच्चों के समग्र विकास हेतु आवश्यक देखभाल व खानपान संबंधित कौशल का प्रशिक्षण भी दिया जाता है। उल्लेखनीय है कि सरगुजा जिले के जिला अस्पताल में 20 बेड सुविधा युक्त तथा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सीतापुर में 10 बेड युक्त पोषण पुनर्वास केंद्र का सफल एवं सुचारु संचालन किया जा रहा है। जिला अस्पताल स्थित पोषण पुनर्वास केंद्र में 301 तथा सीतापुर स्थित पोषण पुनर्वास केंद्र में 156 कुपोषित बच्चे लाभान्वित हुए। इस तरह से जिले में विगत 1 वर्ष में 457 कुपोषित बच्चों को स्वास्थ्य लाभ मिल चुका है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.