विश्व
पुष्टि - 326,836,658
मृत्यु - 5,553,780
ठीक- 266,449,527
भारत
पुष्टि - 37,122,164
मृत्यु - 486,094
ठीक- 35,085,721
महाराष्ट्र
पुष्टि - 71,24,278
मृत्यु - 1,41,756
ठीक- 67,17,125
केरल
पुष्टि - 53,42,953
मृत्यु - 50,568
ठीक- 52,14,862
कर्नाटक
पुष्टि - 31,53,247
मृत्यु - 38,411
ठीक- 29,73,470
तमिलनाडु
पुष्टि - 28,91,959
मृत्यु - 36,956
ठीक- 27,36,986

कलेक्टर ने शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना और हाट बाजार क्लीनिक योजना से अधिकाधिक लोगों को लाभांवित करने के निर्देश दिए

रायपुर। कलेक्टर डाॅ.एस. भारतीदासन ने आज जिला रेडका्रॅस सोसायटी के सभा कक्ष में समय-सीमा की बैठक लेकर धान खरीदी के लिए समितियों के माध्यम से धान खरीदी की व्यवस्था, किसान पंजीयन, मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना, मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लीनिक योजना सहित विभिन्न योजनाओं की समीक्षा की।

कलेक्टर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ अधिकारी को व्यापक अभियान चलाते हुए मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना और मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लीनिक योजना के माध्यम से अधिक से अधिक लोगों को उनके रहवास के समीप जांच और ईलाज की सुविधा उपलब्ध कराने को कहा। उन्होंने इन योजनाओं के व्यापक प्रचार-प्रसार करते हुए, लोगों को जागरूक एवं सचेत करने को कहा, जिससे वे अधिक से अधिक संख्या में इन योजनाओं का लाभ लेने आगे आये।

बैठक में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ अधिकारी डाॅ. मीरा बघेल ने बताया कि मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना के अंतर्गत रायपुर जिले के 2 अक्टूबर से अब तक 90 कैम्प लगाये गये है तथा करीब 8 हजार लोगों के स्वास्थ्य की जांच की गई हैं। इसके तहत रायपुर और बीरगांव के 340 स्लम क्षेत्रों का चयन किया गया है। एमबीबीएस चिकित्सकों के नेतृत्व में मेडिकल उपकरण एवं पैथोलाॅजी आदि की सुविधा सहित 20 मेडिकल टीम गठित कर निर्धारित दिनांक एवं समय पर सुबह 8 से दोपहर 2 बजे तक जांच और ईलाज का कार्य किया जा रहा है। ये टीम चार-चार टीम सप्ताह के पांच दिन स्लम एरिया में पहुंचकर बीपी, शुगर, खून, मलेरिया, हिमोग्लाबिन, सिकलिंग, चर्मरोग तथा अन्य बीमारियों की जांच एवं ईलाज कर रही है। इसके अलावा रायपुर जिले में आंखों और टीबी के जांच एवं ईलाज के लिए विशेष व्यवस्था की गई है। इसके लिए आयुर्वेद चिकित्सा सुविधा भी प्रदाय करने का प्रयास है। इसी तरह मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लीनिक योजना के तहत जिले के चार जनपद पंचायत क्षेत्रों के 8 ग्रामीण हाॅट बाजारों में 63 शिविर लगाये गये हैं और करीब 3 हजार लोगों के स्वास्थ्य की जांच की गई है।

कलेक्टर ने धान खरीदी के लिए किसानों के पंजीयन की जानकारी ली। खाद्य नियंत्रक ने बताया कि जिले में इस वर्ष करीब 9 हजार सात सौ दस नए किसानों ने अपने सात हजार हेक्टेयर जमीन का पंजीयन कराया है। कलेक्टर ने रायपुर जिले के सभी अनुविभागों के अनुविभागीय दंडाधिकारियों को तहसील के समितियों की बैठक लेकर समीक्षा करने तथा संग्रहण धान खरीदी केन्द्रों का अवलोकन कर आवश्यक व्यवस्थाये सुनिश्चित करने को कहा। उन्होंने कहा कि इस कार्य में खाद्य विभाग, मार्कफेड, सहकारी बैंक, सहकारिता विभाग, नागरिक आपूर्ति निगम सभी बेहतर से बेहतर समन्वय से कार्य करें और चेक लिस्ट के अनुसार सभी कार्य समय पर सुनिश्चित करें। सहकारी बैंक के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एस. के जोशी ने बताया कि रायपुर जिले में 82 समितियों के 125 धान उपार्जन केन्द्रों के माध्यम से 15 नवम्बर से धार खरीदी का कार्य प्रारंभ किया जाना है। समितियों के द्वारा किसान पंजीयन की जानकारी पटवारियों को दे दी गई है, जिसका सत्यापन पटवारियों द्वारा किया जा रहा है।

बैठक में कलेक्टर ने समय-सीमा और जनचैपाल के माध्यम से प्राप्त आवेदनों का निराकरण शीघ्र करने को कहा। इसी तरह बैठक में रायपुर जिले में सिंगल यूस्ड प्लास्टिक की रोकथाम करने तथा स्वच्छता को बढ़ावा देने के लिए नागरिकों से आग्रह किया गया। नगर निगम के अपर आयुक्त पुलक भट्टाचार्य ने बताया कि रायपुर शहर को साफ-सुथरा बनाने की जिम्मेदारी सभी नागरिकों की है। उन्होंने नागरिकों से अपील की कहीं भी कचरा संग्रहण होने की शिकायत होने पर वे सीधे उनके मोबाईल फोन पर भी शिकायत कर सकते है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.