विश्व
पुष्टि - 326,836,658
मृत्यु - 5,553,780
ठीक- 266,449,527
भारत
पुष्टि - 37,122,164
मृत्यु - 486,094
ठीक- 35,085,721
महाराष्ट्र
पुष्टि - 71,24,278
मृत्यु - 1,41,756
ठीक- 67,17,125
केरल
पुष्टि - 53,42,953
मृत्यु - 50,568
ठीक- 52,14,862
कर्नाटक
पुष्टि - 31,53,247
मृत्यु - 38,411
ठीक- 29,73,470
तमिलनाडु
पुष्टि - 28,91,959
मृत्यु - 36,956
ठीक- 27,36,986

भारत-पाकिस्तान के तल्ख रिश्तों के बाद अगले आदेश तक थार एक्सप्रेस रद

जयपुर। रेल मंत्रालय ने साप्ताहिक थार लिंक एक्सप्रेस रद्द कर दी है और यह ट्रेन आज यानी शुक्रवार की रात नहीं चलेगी। उत्तर पश्चिम रेलवे के प्रवक्ता ने शुक्रवार को यहां यह जानकारी दी। उल्लेखनीय है कि यह ट्रेन जोधपुर को पाकिस्तान के कराची शहर से जोड़ने वाली थार रेल सेवा का एक भाग है जो प्रत्येक शुक्रवार को चलती है। उत्तर पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी अभय शर्मा ने बताया कि इस रेल सेवा को अगले आदेश तक रद्द किया गया है। आधिकारिक बयान के अनुसार, रेलवे की तरफ से अग्रिम आदेशों तक भगत की कोठी-मुनाबाव-भगत की कोठी व मुनाबाव-जीरो प्वाइंट-मुनाबाव थार एक्सप्रेस रेल सेवाओं को रद्द किया जा रहा है।

रेलवे के एक अन्य प्रवक्ता ने थार एक्सप्रेस ट्रेन रद्द किए जाने का कारण तो नहीं बताया लेकिन एक सवाल के जवाब में स्पष्ट किया कि इसकी वजह से इलाके में भारी बारिश के कारण पटरियों पर पानी जमा होना नहीं है। उन्होंने बताया कि इस इस ट्रेन में पाकिस्तान जाने के लिए 45 लोगों ने टिकट करवाए थे। उल्लेखनीय है कि थार रेल सेवा भारत के जोधपुर को पाकिस्तान के कराची से जोड़ती है। भारत की थार लिंक एक्सप्रेस इन दिनों भगत की कोठी जोधपुर से रात दस बजे रवाना होती है। यह शनिवार को पाकिस्तान में जीरो प्वाइंट स्टेशन पहुंचती है जहां यात्री ट्रेन बदलते हैं।

पाकिस्तान जाने वाले यात्री वहां से पाकिस्तान की थार एक्सप्रेस में सवार होते हैं जबकि थार एक्सप्रेस से वहां पहुंच कर भारत आने वाले यात्री लौटती थार लिंक एक्सप्रेस में सवार होते हैं। थार लिंक एक्सप्रेस में आने वाले यात्रियों व उनके दस्तावेजों की जांच मुनाबाव स्टेशन पर होती है जिसके बाद ट्रेन को आगे जोधपुर के लिए रवाना किया जाता है। भारत और पाकिस्तान के संबंधों में ताजा खटास के बीच दोनों देशों के बीच इस सेवा के परिचालन को लेकर भी संशय के बादल मंडरा रहे थे। पिछले शुक्रवार शनिवार को 165 यात्री पाकिस्तान गए थे और उतनी की संख्या में यात्री वहां से भारत आए थे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.