विश्व
पुष्टि - 326,836,658
मृत्यु - 5,553,780
ठीक- 266,449,527
भारत
पुष्टि - 37,122,164
मृत्यु - 486,094
ठीक- 35,085,721
महाराष्ट्र
पुष्टि - 71,24,278
मृत्यु - 1,41,756
ठीक- 67,17,125
केरल
पुष्टि - 53,42,953
मृत्यु - 50,568
ठीक- 52,14,862
कर्नाटक
पुष्टि - 31,53,247
मृत्यु - 38,411
ठीक- 29,73,470
तमिलनाडु
पुष्टि - 28,91,959
मृत्यु - 36,956
ठीक- 27,36,986

अमर शहीद वीर नारायण सिंह के योगदान को हमेशा किया जाएगा याद : मुख्यमंत्री श्री बघेल

रायपुर। अमर शहीद वीर नारायण सिंह की जन्मस्थली सोनाखान को पर्यटन केन्द्र के रूप में विकसित किया जाएगा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज अमर शहीद वीर नारायण सिंह के शहादत दिवस पर उन्हें सोनाखान पहुंचकर विनम्र श्रद्धांजलि दी। इस मौके पर उन्होंने सोनाखान को पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित करने की घोषणा की और वहां बनाए गए स्मारक को नई भव्यता देकर वहां विभिन्न सुविधाएं विकसित करने की बात कही। कार्यक्रम में नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया, विधायक मोहन मरकाम, कसडोल विधायक शकुंतला साहू सहित अनेक जनप्रतिनिधि और अमर शहीद वीर नारायण सिंह के परिवारजन उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने बालौदाबाजार-भाटापारा जिले के कसडोल विकासखण्ड के ग्राम सोनाखान में अमर शहीद वीर नारायण सिंह के शहादत एवं श्रद्धांजलि दिवस पर आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के गौरवशाली इतिहास में छत्तीसगढ़ के वीर सपूत शहीद वीर नारायण सिंह के बलिदान को हमेशा याद किया जाएगा। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ महतारी के सच्चे सपूत वीर नारायण सिंह जिन्होंने सन् 1857 में देश के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम आंदोलन में जनता में देशभक्ति का संचार किया। सन् 1856 के भयानक अकाल के दौरान गरीबों को भूख से बचाने के लिए अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ कड़ा संघर्ष किया और जनता की भलाई के लिए अपने प्राण तक न्यौछावर कर दिए। देश की आजादी तथा मातृभूमि के प्रति सेवा, समर्पण और उनके बलिदान को हमेशा याद किया जाएगा।

सोनाखान में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री बघेल ने शहीद वीर नारायण के सातवीं पीढ़ी के रजिंदर सिंह दीवान सहित अन्य परिजनों को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर स्कूली बच्चों ने शहीद वीर नारायण सिंह के व्यक्तित्व और कृतित्व पर आधारित अनेक देशभक्तिपूर्ण सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.