विश्व
पुष्टि - 326,836,658
मृत्यु - 5,553,780
ठीक- 266,449,527
भारत
पुष्टि - 37,122,164
मृत्यु - 486,094
ठीक- 35,085,721
महाराष्ट्र
पुष्टि - 71,24,278
मृत्यु - 1,41,756
ठीक- 67,17,125
केरल
पुष्टि - 53,42,953
मृत्यु - 50,568
ठीक- 52,14,862
कर्नाटक
पुष्टि - 31,53,247
मृत्यु - 38,411
ठीक- 29,73,470
तमिलनाडु
पुष्टि - 28,91,959
मृत्यु - 36,956
ठीक- 27,36,986

प्रदेशवासियों को मिली दो नई स्वास्थ्य योजनाएं, डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना में 5 लाख रूपए एवं मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना के तहत 20 लाख रूपए तक इलाज की सुविधा

रायपुर। छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा राज्य के सभी नागरिकों को बेहतर एवं गुणवत्तापूर्ण उपचार सुविधा प्रदान करने हेतु मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में आज निवास कार्यालय में आयोजित मंत्रिपरिषद की बैठक में दो नई स्वास्थ्य योजना को शुरू करने का निर्णय लिया गया है। डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना तथा मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना के नाम से जानी जाएगी।

डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजनांतर्गत आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना में शामिल परिवार के साथ ही नई योजना में सभी प्राथमिकता एवं अंत्योदय राशन कार्डधारी परिवारों को शामिल किया गया है, जिनकी संख्या लगभग 56 लाख परिवार है जिन्हें 5 लाख रूपए तक स्वास्थ्य बीमा सुविधा मिलेगी। अन्य राशन कार्डधारी परिवारों को 50 हजार रूपए तक इलाज की सुविधा मिलेगी। इस योजना अंतर्गत राज्य में प्रचलित अन्य स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने वाली समस्त योजनाएं आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना, मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना, मुख्यमंत्री बाल हृदय सुरक्षा योजना, मुख्यमंत्री बाल श्रवण योजना एवं राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम (चिरायु) योजना इस नई योजना में समाविष्ट हो जाएंगी।

इस नई योजनांतर्गत राज्य के सभी राशन कार्डधारी परिवारों को स्वास्थ्य लाभ किसी भी शासकीय या पंजीकृत चिकित्सालय में नगद रहित इलाज करा सकेंगे। इस योजना का क्रियान्वयन संचालनालय स्वास्थ सेवाएं के अंतर्गत स्थापित राज्य नोडल एजेंसी द्वारा ट्रस्ट मॉडल पर किया जाएगा अर्थात राज्य क्रियान्वयन एवं सुविधा हेतु भुगतानकर्ता के रूप में कार्य करेगी।

इसी तरह संजीवनी सहायता कोष का विस्तार करते हुए दुर्लभ बीमारियों के इलाज हेतु मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना प्रारम्भ करने का निर्णय लिया गया हैं। इसमें प्रकरण अनुसार एवं माननीय मुख्यमंत्री जी के अनुमोदन के उपरांत अधिकतम 20 लाख रूपए तक के इलाज की सुविधा प्रदान की जाएगी। छत्तीसगढ़ देश में ऐसा पहला राज्य है जो इतनी बड़ी राशि अपने राज्य के नागरिकों के इलाज हेतु प्रदान करेगा।

इसी तरह अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान रायपुर (एम्स) को नवा रायपुर, अटल नगर में निःशुल्क भूमि आबंटन का निर्णय लिया गया। इस भूमि पर मरीजों को उच्च गुणवत्ता का उपचार रियायती दरों पर उपलब्ध हो तथा विभिन्न बीमारियों पर अनुसंधान करने हेतु स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ, आउटरिच सेंटर, आंकोलोजी यूनिट, रिसर्च सेंटर एण्ड सेंटर आफ एक्सीलेंट की स्थापना की जाएगी। इस हेतु नया रायपुर डेव्लपमेंट अथॉरिटी (एनआरडीए) द्वारा ग्राम उपरवाड़ा में रकबा 204771.12 वर्गमीटर भूमि निःशुल्क आबंटित किया जाएगा। भूमि के संबंध में एम्स रायपुर से किए जाने वाले एम.ओ.यू. प्रारूप का भी अनुमोदन मंत्रिपरिषद की बैठक में किया गया।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.