विश्व
पुष्टि - 326,836,658
मृत्यु - 5,553,780
ठीक- 266,449,527
भारत
पुष्टि - 37,122,164
मृत्यु - 486,094
ठीक- 35,085,721
महाराष्ट्र
पुष्टि - 71,24,278
मृत्यु - 1,41,756
ठीक- 67,17,125
केरल
पुष्टि - 53,42,953
मृत्यु - 50,568
ठीक- 52,14,862
कर्नाटक
पुष्टि - 31,53,247
मृत्यु - 38,411
ठीक- 29,73,470
तमिलनाडु
पुष्टि - 28,91,959
मृत्यु - 36,956
ठीक- 27,36,986

राफेल पर सुप्रीम कोर्ट के फैसला के बाद भाजपा करेगी राष्ट्रव्यापी आंदोलन-प्रदर्शन, राहुल गांधी से माफी की मांग कर किया प्रदर्शन

नई दिल्ली। राफेल मामले पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के एक दिन बाद आज बीजेपी ने एक बार फिर कांग्रेस को राफेल मामले पर घेरा है। पार्टी ने कहा कि राफेल पर कांग्रेस का झूठ बेनकाब हुआ है। बीजेपी राष्ट्रीय महासचिव भूपेंद्र यादव ने यहां पार्टी मुख्यालय में एक प्रेस वार्ता में कहा, राफेल पर कांग्रेस का झूठ बेनकाब हुआ है।

कल से भाजपा कार्यकर्ता हर जिले में एकत्र होकर राहुल से माफी की मांग करेंगे। दिल्ली में आज से ही इस प्रदर्शन की शुरुआत हो चुकी है। भाजपा कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस मुख्यालय के बाहर प्रदर्शन किया। प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी और विधायक विजेंद्र गुप्ता समेत कई नेताओं ने इस आंदोलन में हिस्सा लिया।

उल्लेखनीय है कि गुरुवार को राफेल मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद से ही भाजपा कांग्रेस पर हमलावार है और राहुल गांधी से माफी की मांग कर रही है। सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में राफेल मामले की जांच से संबंधित सभी पुनर्विचार याचिकाएं खारिज कर दी थी। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने राहुल गांधी को चौकीदार चोर है बयान में अदालत को घसीटने के मामले को भी बंद कर दिया था और उन्हें आगे से बयान देने के मामले में सतर्क रहने की चेतावनी दी थी।

गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने शुक्रवार को कहा कि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल सौदे को लेकर अनावश्यक तमाशा करने की कोशिश की और सुप्रीम कोर्ट द्वारा समझौते को लेकर सवाल करने वाली पुनर्विचार याचिका को खारिज करने से साबित हो गया कि आरोपों में कोई दम नहीं था। सावंत ने संवाददाताओं से कहा, सुप्रीम कोर्ट ने अब साबित कर दिया है कि आरोपों में कोई दम नहीं था।

राहुल गांधी ने अनवाश्यक रूप से अपने खुद के फायदे के लिए इसे मुद्दा बनाया और यहां तमाशा खड़ा किया। सावंत ने यह भी कहा, गोवा व देश भर के लोग जानते हैं कि हमारे तत्कालीन रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर कितने साफ-पाक थे। उनके राज्य में और देश में रक्षामंत्री के रूप में ढाई साल के कार्यकाल के दौरान उनके राजनीतिक करियर कोई दाग नहीं है। सावंत ने राहुल गांधी के जनवरी में गोवा दौरे व दिवंगत पर्रिकर से शिष्टाचार मुलाकात को तमाशा बताया।

मुलाकात के तुरंत बाद भाजपा ने कांग्रेस अध्यक्ष पर शिष्टाचार मुलाकात का इस्तेमाल राफेल विवाद को आम चुनाव में उठाने को लेकर आरोप लगाए। पर्रिकर के बड़े बेटे उत्पल पर्रिकर ने गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट के फैसले की सराहना की और राहुल गांधी पर अपने बीमार पिता का फायदा उठाकर राजनीति करने का आरोप लगाया।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.