विश्व
पुष्टि - 326,836,658
मृत्यु - 5,553,780
ठीक- 266,449,527
भारत
पुष्टि - 37,122,164
मृत्यु - 486,094
ठीक- 35,085,721
महाराष्ट्र
पुष्टि - 71,24,278
मृत्यु - 1,41,756
ठीक- 67,17,125
केरल
पुष्टि - 53,42,953
मृत्यु - 50,568
ठीक- 52,14,862
कर्नाटक
पुष्टि - 31,53,247
मृत्यु - 38,411
ठीक- 29,73,470
तमिलनाडु
पुष्टि - 28,91,959
मृत्यु - 36,956
ठीक- 27,36,986

पकिस्तान के 2 सप्ताह में दूसरी बार एयरस्पेस की अनुमति नहीं देने पर रवीश कुमार ने की पाक की निंदा

नई दिल्ली। भारत ने अमेरिका के आगामी दौरे के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के VVIP विमान को अपने वायु क्षेत्र से उड़ान की अनुमति नहीं देने के लिए बुधवार को पाकिस्तान पर निशाना साधा। इससे पहले पाकिस्तान ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के विमान को आइसलैंड के आधिकारिक दौरे के दौरान अपने हवाई क्षेत्र से उड़ान भरने की अनुमति देने से मना कर दिया था। विमान को उड़ान की अनुमति देने से हालिया इनकार के बारे में पूछे जाने पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि दो सप्ताह में दूसरी बार वीवीआईपी विमान को उड़ान की अनुमति देने से पाकिस्तान सरकार के इनकार के फैसले पर हमें अफसोस है। हालांकि किसी भी देश द्वारा नियमित रूप से यह अनुमति प्रदान की जाती है।

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को स्थापित अंतरराष्ट्रीय परिपाटी से हटने के अपने फैसले पर सोच विचार करना चाहिए, साथ ही एकतरफा कार्रवाई के कारणों को गलत तरीके से पेश करने की अपनी पुरानी आदत पर भी पुनर्विचार करना चाहिए। पाकिस्तान ने ‘कश्मीर में मौजूदा स्थिति का हवाला देते हुए’ जर्मनी होकर अमेरिका की आगामी यात्रा के लिए मोदी के विमान को अपने वायु क्षेत्र के इस्तेमाल की इजाजत देने से इनकार कर दिया। इससे पूर्व, पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि भारत ने मोदी को 21 (सितम्बर) को जर्मनी जाने और 28 (सितम्बर) को वापसी के लिए पाकिस्तान से उसका वायु क्षेत्र इस्तेमाल करने देने का आग्रह किया था।

कुरैशी ने एक वीडियो बयान के जरिये निर्णय की घोषणा करते हुए कहा कि इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायुक्त को पाकिस्तान के इस निर्णय से अवगत करा दिया गया है कि वह मोदी के विशेष ‘एयर इंडिया वन’ विमान को देश के ऊपर से उड़ान भरने की इजाजत नहीं देगा। उन्होंने कहा कि कश्मीर में वर्तमान स्थिति, वहां भारत के रुख और अत्याचार के मद्देनजर हमने निर्णय किया है कि हम भारतीय प्रधानमंत्री की उड़ान के लिए हमारे वायु क्षेत्र का इस्तेमाल नहीं करने देंगे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.